Death Anniversary: पोखरण परीक्षण के दौरान ट्रक में सब्जी भरकर लेकर गए थे कलाम

भारत के पूर्व राष्ट्रपति एवं महान वैज्ञानिक APJ अब्दुल कलाम की आज 7वीं पुण्यतिथि है। देशभर में कलाम के चाहने वाले उनकी पुण्यतिथि को अलग-अलग अदांज में याद कर रहे हैं

Ravi Prashant Written By: Ravi Prashant
Updated on: July 28, 2022 10:16 IST
Death Anniversary : Abdul Kalam- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Death Anniversary : Abdul Kalam

Highlights

  • 18 जुलाई 2002 को 11वें राष्ट्रपति का पद संभाला था
  • पूर्व राष्ट्रपति कलाम का पोखरण परीक्षण में अहम योगदान था
  • 83 वर्ष के उम्र कलाम ने पूरी दुनिया को अलविदा कह दिया

भारत के पूर्व राष्ट्रपति एवं महान वैज्ञानिक APJ अब्दुल कलाम की आज 7वीं पुण्यतिथि है। देशभर में कलाम के चाहने वाले उनकी पुण्यतिथि को अलग-अलग अदांज में याद कर रहे हैं। कलाम सभी के दिलों पर राज करने वाले थे, उनके चाहने वालों की कमी नहीं थी। कलाम ने 18 जुलाई 2002 को 11वें राष्ट्रपति का पद संभाला था। उस समय भी कलाम एक वैज्ञानिक के रूप में ऐरोस्पस में कार्यरत थे। पूर्व राष्ट्रपति अपने कामों को लेकर हमेशा एक्टिव रहते थे। युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत थे। आज भी उनके कई कथन है जो युवाओं में जोश भर देते हैं।

पोखरण में था अहम योगदान

राष्ट्रपति कलाम का पोखरण परीक्षण में अहम योगदान था। परमाणु परीक्षण के समय कलाम जोधपुर के पावटा सब्जी मंडी से ट्रक में सब्जी भरकर और कर्नल के रूप में परीक्षण स्थल पर पहुंचे थे। उस समय अमेरिका भारत पर पैनी नजर बनाए रखा था। जोधपुर शहर में कई जासूस एक्टिव थे। कलाम ने किसी को भनक तक नहीं लगने दिया था। उस समय भारत के प्रधानमंत्री अटल बाजपेयी थे जिनके साठ-गांठ से अमेरिका और पूरी दुनिया को पोखरण परमाणु परीक्षण करके चौका दिया था।

कैसे हुआ था निधन

भारत के पूर्व राष्ट्रपति कलाम 27 जुलाई 2015 को मेघालय में लेक्चर देने के लिए पहुंचे थे, तभी अचानक से दिल का दौरा पड़ा। आनन-फानन में कलाम को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया लेकिन डॉक्टरों उन्हें मृत घोषित कर दिया। 83 वर्ष के उम्र कलाम ने पुरी दुनिया को अलविदा कह दिया। पूरे देश में उस दिन शोक की लहर दौड़ गई। 

कलाम के कुछ कोट्स जो हमेशा याद रहेगा

"ख़्वाब वह नहीं होते जो हम सोते में देखते हैं, बल्कि ख़्वाब वह होते हैं जो हमें सोने ही न दें।"

"हमें जीवन में कभी किसी से हार नहीं माननी चाहिए और समस्या को हमें हराने की अनुमति नहीं देनी चाहिए।"

"इस दुनिया में किसी को हराना बहुत ही आसान है, लेकिन किसी को जीतना उतना ही मुश्किल है।"

"पहली बार जीत मिलने पर हमें आराम नहीं करना चाहिए। अगर दूसरी बार हार गए तो लोग बोलेंगे कि हमें मिली पहली जीत केवल एक तुक्का थी।"

"अगर तुम सूरज की तरह चमकना चाहते हो, तो सबसे पहले सूरज की तरह जलो।"

"विज्ञान मानवता के लिए एक खूबसूरत तोहफा है, हमें इसे बिगाड़ना नहीं चाहिए।"

"जानें कि आप कहां जा रहे हैं।दुनिया में सबसे बड़ी बात यह नहीं जानना है कि हम कहां खड़े हैं, हम किस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।"

"जब आपकी आशाएं और सपने और लक्ष्य धराशायी हो जाते हैं, तो मलबे के बीच खोज करें, आपको खंडहर में छिपा एक सुनहरा अवसर मिल सकता है।"

"देश का सबसे अच्छा दिमाग कक्षा की आखिरी बेंच पर पाया जा सकता है।"

"यदि आप समय की रेत पर अपने पैरों के निशान छोड़ना चाहते हैं, तो अपने पैरों को मत खींचो।"

 

Latest India News

navratri-2022