China Corona: चीन की जीरो कोविड पॉलिसी और सारे दावे फेल, वैक्सीन पर उठे सवाल

चीन में कोरोना संक्रमण के सामने आ रहे नए मामलों के रोजाना रिकॉर्ड टूट रहे हैं। चीन की कोरोना वैक्सीन को लेकर भी दुनिया में सवाल उठने लगे हैं। 

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 13, 2022 14:13 IST
Residents line up for the first round of mass COVID testing in the Jingan district of western Shangh- India TV Hindi
Image Source : AP FILE PHOTO Residents line up for the first round of mass COVID testing in the Jingan district of western Shanghai, China.

Highlights

  • चीन में लॉकडाउन के बावजूद क्यों नहीं थम रहा कोरोना?
  • चीन की मेडिकल सुविधाएं खोखली साबित हो रही हैं
  • जीरो कोविड पॉलिसी को लेकर लोगों का फूटा गुस्सा

China Coronavirus Lockdown: चीन के कई शहरों में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। चीन की जीरो कोविड पॉलिसी पूरी तरह से फेल होती दिख रही है। चीन में कोरोना संक्रमण के सामने आ रहे नए मामलों के रोजाना रिकॉर्ड टूट रहे हैं। चीन की कोरोना वैक्सीन को लेकर भी दुनिया में सवाल उठने लगे हैं। बता दें कि, चीन अपनी गलतियों को छिपाने के लिए हमेशा से कुख्यात रहा है। चीन में कोरोना संक्रमण से हुई मौतों को लेकर अबतक सही डाटा सामने नहीं आ पाया है। चीन में ज्यादातर लोगों को चीन में बनी साइनोवैक या साइनोफार्म की वैक्सीन दी गई है। चीनी कोविड वैक्सीन के प्रभाव को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। 

चीन की कोरोना वैक्सीन बेअसर है?

'जीरो कोविड की रणनीति' के साथ चलने वाले चीन (China) में आई कोरोना (Corona) की इस नई लहर ने पूरी दुनिया को चौंका दिया है। चीन में वैक्सीनेशन की बात करें तो दुनिया में वैक्सीनेशन के मामले में टॉप 5 देशों की सूची में शामिल चीन में वैक्सीन कितनी कारगर साबित हो रही है ये तेजी से फैलते संक्रमण को दर्शाता है। वैक्सीनेशन के बाद भी बड़ी आबादी कोरोना की चपेट में आ रही है जो कि चीन की कोरोना वैक्सीन पर प्रश्चचिन्ह लगाता है।

शंघाई कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट बना

इस समय देश का सबसे बड़ा शहर शंघाई कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट बना हुआ है। शंघाई में लॉकडाउन लागू है, लेकिन कोरोना के रिकॉर्ड नए मामले आ रहे हैं। अरबों लोगों को कोरोना वैक्‍सीन लगाने का दावा करने वाले चीन का कोविड टीका भी फेल साबित होता दिख रहा है। चीन में लॉकडाउन बेअसर साबित हो रहा है और वैक्सीनेशन व खाने-पीने के सामान की किल्लत को लेकर लोगों का गुस्सा फूट रहा है। चीन की जनता ऑनलाइन के साथ-साथ सड़कों पर भी प्रदर्शन कर रही है।

चीन की मेडिकल सुविधाएं खोखली साबित हो रही हैं?

चीन ने सीमा पर कड़े प्रत‍िबंध लगा रखे हैं, डिजिटल ट्रैकिंग कर रही है और बड़े पैमाने पर टेस्टिंग हो रही है। दुनिया जब इस महामारी की चपेट में थी, तब चीन बचा हुआ था लेकिन हाल के फैलते संक्रमण को कंट्रोल नहीं कर पा रहा है। देश के करोड़ों लोग लॉकडाउन में हैं। चीन की कोविड वैक्सीन लगाए हुए लोगों की यात्रा को लेकर पहले ही कई देश प्रतिबंध लगा चुके हैं। चीन की मेडिकल सुविधाएं खोखली साबित हो रही हैं। एक महिला ने 'वीबो' पर लिखा, "मुझे नहीं पता कि मेरा अस्पताल टेलीविजन पर दिखाए जाने वाले अस्पताल जैसा क्यों नहीं दिखता है।"

जानिए चीन की जीरो-कोविड रणनीति क्या है?

कोरोना वायरस के प्रसार को कंट्रोल करने के लिए चीन अपनी "जीरो कोविड" रणनीति का पालन कठोरता से कर रहा है, इसमें क्या-क्या शामिल हैं: घर से बाहर निकलने पर पाबंदी, नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माना या डिटेंशन। 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन