1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. विस्फोटक पैकेज मिलने के बाद सीएनएन और व्हाइट हाउस के बीच जुबानी जंग

विस्फोटक पैकेज मिलने के बाद सीएनएन और व्हाइट हाउस के बीच जुबानी जंग

सीएनएन नेटवर्क के कर्मियों में निराशा है क्योंकि उनका कहना है कि नेताओं को जो विस्फोटक उपकरण भेजे गए थे, उसी तरह सीएनएन में भी विस्फोटक उपकरण भेजा गया लेकिन प्रशासन यह समझने को तैयार नहीं है कि सीएनएन भी निशाना था।

Bhasha Bhasha
Published on: October 25, 2018 13:31 IST
विस्फोटक पैकेज मिलने के बाद सीएनएन और व्हाइट हाउस के बीच जुबानी जंग - India TV Hindi
विस्फोटक पैकेज मिलने के बाद सीएनएन और व्हाइट हाउस के बीच जुबानी जंग 

वॉशिंगटन: व्हाइट हाउस ने आरोप लगाया है कि अमेरिकी समाचार नेटवर्क सीएनएन देश को बांट रहा है, जबकि सीएनएन के प्रमुख जेफ जकर ने कहा है कि व्हाइट हाउस के पास मीडिया पर हो रहे हमलों की गंभीरता की समझ नहीं है। बुधवार को सीएनएन के न्यूयॉर्क स्थित ब्यूरो दफ्तर को पांच घंटे के लिए खाली कराया गया था क्योंकि वहां किसी के द्वारा विस्फोटक पैकेज भेजने का पता चला था। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने बुधवार को सीएनएन प्रमुख जेफ जकर के बयान पर तब पलटवार किया जब जकर ने ‘‘मीडिया पर उनके लगातार हमलों की गंभीरता के प्रति समझ की कमी’’ को लेकर उनकी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की आलोचना की।

सीएनएन वर्ल्डवाइड के अध्यक्ष जकर ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति और खास तौर पर व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव को यह समझना चाहिए कि उनकी बातें मायने रखती है। अभी तक उन्होंने ऐसी समझ दिखाई नहीं है।’’ सीएनएन द्वारा लगाए गए आरोप के बाद प्रतिक्रिया देते हुए व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव ने बुधवार को ट्रंप द्वारा दिए गए बयान का हवाला दिया। इस बयान में ट्रंप ने एकता की मांग करते हुए इस मामले की पूर्ण जांच की बात कही थी। हालांकि, ट्रंप ने अपने बयान में सीएनएन या संदिग्ध उपकरण द्वारा निशाना बनाए गए किसी अधिकारी का नाम नहीं लिया। 

सीएनएन ने बुधवार को अपने स्क्रीन पर घोषणा की थी कि उसने एक संदिग्ध पैकेट मिलने के कारण अपना न्यूयॉर्क ब्यूरो खाली कर दिया है। पैकेट ठीक वैसा ही है जैसा कि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को भी भेजा गया। लेकिन ऐसा लगता है कि सीएनएन के कार्यालय में विस्फोटक उपकरण गलत पहचान की वजह से भेजा गया था क्योंकि इस पैकेट में सीआईए के पूर्व निदेशक जॉन ब्रेनन को संबोधित किया गया था, जो लगातार ट्रंप की आलोचना करते रहते हैं। 

सीएनएन नेटवर्क के कर्मियों में निराशा है क्योंकि उनका कहना है कि नेताओं को जो विस्फोटक उपकरण भेजे गए थे, उसी तरह सीएनएन में भी विस्फोटक उपकरण भेजा गया लेकिन प्रशासन यह समझने को तैयार नहीं है कि सीएनएन भी निशाना था। 

ट्रंप के चुनाव अभियान के अध्यक्ष ब्रैड पार्स्कल ने चंदा मांगने वाले एक ईमेल पर यह कहते हुए माफी मांगी कि यह ईमेल पूर्व नियोजित था और मेल भेजे जाने से पहले विस्फोटक की खबरों का पता नहीं चला था। पार्स्कल ने कहा कि अभियान सीएनएन या किसी के भी खिलाफ हिंसा के व्यवहार को स्वीकार नहीं करता है।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X