जो बाइडेन ने कहा, अमेरिका में बढ़ रहा है भारतीय मूल के लोगों का दबदबा

राष्ट्रपति जो बाइडेन के भाषण लेखन से लेकर अंतरिक्ष एजेंसी नासा तक सरकार के हर विभाग में भारतीय मूल के अमेरिकियों की नियुक्ति हुई है।

Bhasha Reported by: Bhasha
Updated on: March 05, 2021 16:18 IST
Indian americans,joe biden,nasa mee,NASA,swati mohan,Neera Tanden,Kamala Harris, जो बाइडेन, जो बाइडे- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER/@JOEBIDEN अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने माना है कि उनके देश में भारतीय मूल के लोगों का दबदबा बढ़ रहा है।

वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने माना है कि उनके देश में भारतीय मूल के लोगों का दबदबा बढ़ रहा है। बता दें कि अपने प्रशासन में बड़ी संख्या में भारतीय-अमेरिकियों को शामिल किए जाने का हवाला देते हुए जो बाइडेन ने गुरुवार को कहा कि भारतीय-अमेरिकी लोगों का देश में दबदबा बढ़ा है। राष्ट्रपति पद संभालने के 50 दिन के भीतर ही बाइडेन ने अपने प्रशासन में महत्वपूर्ण पदों पर भारतीय मूल के कम से कम 55 लोगों को नियुक्त किया है। राष्ट्रपति बाइडेन के भाषण लेखन से लेकर अंतरिक्ष एजेंसी नासा तक सरकार के हर विभाग में भारतीय मूल के अमेरिकियों की नियुक्ति हुई है।

‘भारतीय मूल के अमेरिकियों का देश में दबदबा बढ़ा है’

मंगल ग्रह की सतह पर ‘पर्सेवियरेंस’ रोवर को उतारने के अभियान में शामिल नासा के वैज्ञानिकों से डिजिटल माध्यम से बात करते हुए राष्ट्रपति बाइडन ने कहा, ‘भारतीय मूल के अमेरिकियों का देश में दबदबा बढ़ा है। (भारतीय मूल के) आप (स्वाति मोहन), उपराष्ट्रपति (कमला हैरिस), मेरे भाषण लेखक (विनय रेड्डी) हैं।’ मोहन ने नासा के मंगल 2020 अभियान में दिशा-निर्देश, दिशा-सूचक और नियंत्रण अभियान का नेतृत्व किया। ‘पर्सेवियरेंस’ रोवर 18 फरवरी को मंगल की सतह पर उतरा था। बाइडेन ने 20 जनवरी को अमेरिका के 46 वें राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी।

‘अपने समुदाय का दबदबा बढ़ता देख गर्व होता है’
बाइडेन ने अपने प्रशासन में भारतीय मूल के कम से कम 55 लोगों की नियुक्ति की है। इनमें से आधी संख्या महिलाओं की हैं और वे व्हाइट हाउस में काम कर रही हैं। इससे पहले बराक ओबामा के कार्यकाल में सबसे ज्यादा भारतीय मूल के लोगों की नियुक्ति की गई थी। भारतवंशी समाजसेवी और ‘इंडियास्पोरा’ के संस्थापक एम रंगास्वामी ने कहा, ‘यह देखना अत्यंत सुखद है कि भारतीय मूल के कई लोग लोकसेवा का काम कर हैं। नई सरकार के बाद और कई लोग जुड़े हैं। समुदाय का दबदबा बढ़ते देखकर गर्व की अनुभूति हो रही है।’

Latest World News

navratri-2022