1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. अमेरिका की चीन को चेतावनी: प्रतिबंधों पर रूस की मदद की तो नतीजे भुगतने होंगे

अमेरिका की चीन को चेतावनी: प्रतिबंधों पर रूस की मदद की तो नतीजे भुगतने होंगे

अमेरिका के राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा कि संयुक्त राज्य के अधिकारियों ने बीजिंग को सूचित किया है कि अगर पीआरसी रूस को पश्चिमी प्रतिबंधों से होने वाले नुकसान की भरपाई में मदद करने की कोशिश करता है तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 14, 2022 7:27 IST
Jake Sullivan, American NSA- India TV Hindi
Image Source : ANI FILE PHOTO Jake Sullivan, American NSA  

Highlights

  • अमेरिकी सुरक्षा सलाहकार ने कहा- चीन पर बारीकी से रख रहे हैं नजर
  • चीन ने कहा- रूस पर प्रतिबंध वैश्विक अर्थव्यवस्था को प्रभावित करेंगे

नई दिल्ली। संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा कि संयुक्त राज्य के अधिकारियों ने बीजिंग को सूचित किया है कि अगर पीआरसी रूस को पश्चिमी प्रतिबंधों से होने वाले नुकसान की भरपाई में मदद करने की कोशिश करता है तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। रिया नोवोस्ती ने सुलिवन के हवाले से कहा, "हम इस बात की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं कि चीन वास्तव में रूस को किस हद तक सामग्री और आर्थिक सहायता देता है।"

अमेरिकी सुरक्षा सलाहकार के अनुसार, "अमेरिकी अधिकारियों ने बीजिंग को सूचित किया कि वे किसी भी देश को रूस को उसके आर्थिक नुकसान की भरपाई करने की कोशिश करने की अनुमति नहीं देंगे।" इससे पहले, रूसी वित्त मंत्री एंटोन सिलुआनोव ने कहा कि पश्चिमी देश चीन पर दबाव डाल रहे हैं, ताकि रूस के युआन भंडार तक पहुंच को सीमित किया जा सके।

स्टेट काउंसिल ऑफ चाइना के प्रीमियर ली केकियांग ने कहा कि रूस पर पश्चिमी प्रतिबंध वैश्विक अर्थव्यवस्था की रिकवरी को प्रभावित करेंगे और सभी पक्षों को नुकसान पहुंचाएंगे। रिया नोवोस्ती ने उनके हवाले से कहा, "वैश्विक अर्थव्यवस्था पहले से ही महामारी के भारी प्रभाव में है, संबंधित प्रतिबंधों से वैश्विक अर्थव्यवस्था की रिकवरी प्रभावित होगी और इससे किसी भी पक्ष को कोई फायदा नहीं होगा।"

केकियांग ने यह भी कहा कि चीन ने हमेशा एक स्वतंत्र और शांतिपूर्ण विदेश नीति का पालन किया है। उन्होंने कहा, "चीन ने हमेशा एक स्वतंत्र शांतिपूर्ण विदेश नीति अपनाई है और द्विपक्षीय संबंध विकसित किए हैं जो किसी तीसरे पक्ष के खिलाफ निर्देशित नहीं हैं।"