MCD चुनावों से जोश में AAP, गुजरात-हिमाचल के नतीजों से पहले खुद को घोषित किया राष्ट्रीय पार्टी, दिल्ली में लगे पोस्टर

AAP National Party: आम आदमी पार्टी ने खुद को राष्ट्रीय पार्टी घोषित कर दिया है। दिल्ली में बकायदा इसके पोस्ट लगे हैं। एमसीडी चुनाव के बाद ये घोषणा की गई है।

Shilpa Written By: Shilpa @Shilpaa30thakur
Updated on: December 08, 2022 11:02 IST
आम आदमी पार्टी के पोस्टर दिल्ली में लगे हैं- India TV Hindi
Image Source : TWITTER आम आदमी पार्टी के पोस्टर दिल्ली में लगे हैं

दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP) को बने करीब दस साल पूरे हो गए हैं। इस पार्टी ने अपने गठन के बाद चुनाव लड़ने की शुरुआत राजधानी से की थी लेकिन अब ये दूसरे राज्यों में भी विधानसभा चुनाव लड़ रही है। पार्टी को हाल में ही पंजाब विधानसभा चुनाव में सफलता मिली थी, जहां वर्तमान में उसकी सरकार है। आज यानी गुरुवार 8 दिसंबर को गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होंगे। दोनें ही राज्यों में आप पार्टी बीजेपी और कांग्रेस से पीछे चल रही है। लेकिन पार्टी ने खुद को राष्ट्रीय पार्टी घोषित कर दिया है। 

आम आदमी पार्टी ने एक दिन पहले जारी हुए दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव में जीत हासिल की थी। जिससे उत्साहित होकर उसने दिल्ली में खुद को राष्ट्रीय पार्टी बताने वाले पोस्टर लगा दिए। इसपर लिखा है, "आम आदमी पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी बनने पर देशवासियों को बधाई।" आप को पूरा भरोसा है कि वह गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आते ही राष्ट्रीय पार्टी बन जाएगी। एक मीडिया रिपोर्ट में विशेषज्ञ के हवाले से राष्ट्री पार्टी बनने के लिए तीन मुख्य शर्तें बताई गई हैं, जिनमें से एक को पूरा करना होता है। 

राष्ट्रीय पार्टी बनने की शर्तें क्या हैं?

ये शर्तें हैं- राजनीतिक दल चार लोकसभा सीटों के अलावा लोकसभा में 6 फीसदी वोट हासिल करे। या फिर विधानसभा चुनावों में चार या इससे अधिक सीट हासिल करे। या फिर राज्यों में कुल 6 फीसदी या उससे अधिक वोट शेयर जुटाए।

आप की सरकार दिल्ली और पंजाब में है। गोवा में उसने 6.77 वोट शेयर के साथ दो सीटें हासिल की थीं। कुछ अन्य राज्यों में भी उसके वोट शेयर हैं। इसके बाद से ही ऐसी चर्चा हो रही है कि क्या गुजरात चुनाव के बाद आप राष्ट्रीय पार्टी बन जाएगी।

राष्ट्रीय पार्टी होने के क्या फायदे हैं?

अगर कोई राजनीतिक दल राष्ट्रीय पार्टी बन जाता है, तो उसे इससे कई फायदे होते हैं। इनमें पहला फायदा ये है कि उसका दर्जा बदल जाता है। राजनीतिक दल को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिल जाता है। जिसके बाद उसे एक रिजवर्ड चुनाव चिन्ह मिलता है। साथ ही चुनाव आयोग ऐसी पार्टियों को कुछ विशेष अधिकार और सुविधाएं देता है। इनमें मुफ्त और अनिवार्य रूप से निर्वाचन सूची प्राप्त करने की सुविधा मिलना शामिल है। 

राष्ट्रीय दलों को चुनावों से कुछ वक्त पहले राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर टेलीविजन और रेडियो प्रसारण के लिए समय दिए जाने की मंजूरी मिल जाती है। जिससे वह अपनी बातों को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचा सकती हैं। राष्ट्रीय पार्टी होने का एक फायदा ये भी होता है कि नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए उम्मीदवारों के प्रस्तावकों की संख्या बढ़ जाती है। इसके साथ ही राष्ट्रीय मीडिया पर मुफ्त एयरटाइम मिलता है। जिससे पार्टी को अपनी पहुंच बढ़ाने में मदद मिल जाती है।

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News News in Hindi के लिए क्लिक करें इलेक्‍शन सेक्‍शन