1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. गैलरी
  4. इंटरनेशनल
  5. पत्नी की लाश के साथ 21 साल से रह रहा था बुजुर्ग, शव के पास ही सोता था रोज

पत्नी की लाश के साथ 21 साल से रह रहा था बुजुर्ग, शव के पास ही सोता था रोज

India TV Hindi Photo Desk India TV Hindi Photo Desk
Updated on: May 09, 2022 18:11 IST
  • थाईलैंड में एक 72 साल का बूढ़ा आदमी ने अपनी मृत पत्नी के पार्थिव शरीर को 21 साल तक अपने घर में सहेज कर रखा। बीवी से बेशुमार प्यार करने वाले थाईलैंड के चार्न जनवाचकाल ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि उनकी पत्नी एक दिन जरूर बोलेगी। इस बात की खबर लगी तो आसपास के लोगों और स्थानीय प्रशासन ने चार्न को खूब समझाया तब जाके बुजुर्ग ने अपनी पत्नी के पार्थिव शरीर को अंतिम विदाई दी। 
    Image Source : twitter

    थाईलैंड में एक 72 साल का बूढ़ा आदमी ने अपनी मृत पत्नी के पार्थिव शरीर को 21 साल तक अपने घर में सहेज कर रखा। बीवी से बेशुमार प्यार करने वाले थाईलैंड के चार्न जनवाचकाल ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि उनकी पत्नी एक दिन जरूर बोलेगी। इस बात की खबर लगी तो आसपास के लोगों और स्थानीय प्रशासन ने चार्न को खूब समझाया तब जाके बुजुर्ग ने अपनी पत्नी के पार्थिव शरीर को अंतिम विदाई दी। 

  • लोग तब भावुक हो गए जब अंतिम विदाई के दौरान चार्न जनवाचकाल ने पत्नी के कॉफिन के करीब जाकर कहा- मुझे मालूम है कि तुम कुछ वक्त के लिए ही कहीं जा रही हो। मुझे उम्मीद है कि तुम बहुत जल्द अपने इस घर लौटोगी। हैरानी की बात ये रही कि चार्न जनवाचकाल नाम के इस बुजुर्ग ने कई साल तक आसपास के लोगों को पता ही नहीं लगने दिया कि उनकी पत्नी का निधन हो चुका है। 
    Image Source : twitter

    लोग तब भावुक हो गए जब अंतिम विदाई के दौरान चार्न जनवाचकाल ने पत्नी के कॉफिन के करीब जाकर कहा- मुझे मालूम है कि तुम कुछ वक्त के लिए ही कहीं जा रही हो। मुझे उम्मीद है कि तुम बहुत जल्द अपने इस घर लौटोगी। हैरानी की बात ये रही कि चार्न जनवाचकाल नाम के इस बुजुर्ग ने कई साल तक आसपास के लोगों को पता ही नहीं लगने दिया कि उनकी पत्नी का निधन हो चुका है। 

  • बता दें कि बैंकॉक के करीब बांग खेन जिले के रहने वाले चार्न जनवाचकाल को पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए बैंकॉक के एक फाउंडेशन ने तैयार किया। 
    Image Source : twitter

    बता दें कि बैंकॉक के करीब बांग खेन जिले के रहने वाले चार्न जनवाचकाल को पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए बैंकॉक के एक फाउंडेशन ने तैयार किया। 

  • 72 साल के बुजुर्ग ने अपनी पत्नी का पार्थिव शरीर एक ताबूत में बंद करके रखा था। हैरानी की बात ये है कि चार्न के घर में बिजली नहीं है, इसके बावजूद उन्होंने 21 साल तक लाश सहेज कर कैसे रखी, यह रहस्य ही है।
 
    Image Source : twitter

    72 साल के बुजुर्ग ने अपनी पत्नी का पार्थिव शरीर एक ताबूत में बंद करके रखा था। हैरानी की बात ये है कि चार्न के घर में बिजली नहीं है, इसके बावजूद उन्होंने 21 साल तक लाश सहेज कर कैसे रखी, यह रहस्य ही है।

     

  • जिस घर में बुजुर्ग ने अपनी पत्नी के शव को सहेज कर रखा था वहां केवल एक ही कमरा था। चार्न के घर के आस-पास घना जंगल है। वह जहां सोते थे उसके करीब ही उन्होंने अपनी पत्नी के पार्थिव शरीर को सुरक्षित रखा हुआ था।
    Image Source : twitter

    जिस घर में बुजुर्ग ने अपनी पत्नी के शव को सहेज कर रखा था वहां केवल एक ही कमरा था। चार्न के घर के आस-पास घना जंगल है। वह जहां सोते थे उसके करीब ही उन्होंने अपनी पत्नी के पार्थिव शरीर को सुरक्षित रखा हुआ था।

  • हालांकि थाईलैंड के इस बुजुर्ग ने अपनी पत्नी का डेथ सर्टिफिकेट बनवा रखा था। इसलिए, उनके खिलाफ धोखाधड़ी या मौत छिपाने का किसी भी तरह का मामला दर्ज नहीं किया गया है।
    Image Source : twitter

    हालांकि थाईलैंड के इस बुजुर्ग ने अपनी पत्नी का डेथ सर्टिफिकेट बनवा रखा था। इसलिए, उनके खिलाफ धोखाधड़ी या मौत छिपाने का किसी भी तरह का मामला दर्ज नहीं किया गया है।

erussia-ukraine-news