1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. गुजरात
  4. जहां नरेंद्र मोदी कभी बेचा करते थे चाय, आज खुद करेंगे उस रेलवे स्टेशन के नए परिसर का उद्घाटन

जहां नरेंद्र मोदी कभी बेचा करते थे चाय, आज खुद करेंगे उस रेलवे स्टेशन के नए परिसर का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पुनर्निर्मित वडनगर रेलवे स्टेशन का आज डिजिटल तरीके से उद्घाटन करेंगे, जहां वह बचपन में चाय बेचते थे। गुजरात के मेहसाणा जिले में स्थित यह कस्बा मोदी का गृहनगर है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 16, 2021 14:50 IST
जहां नरेंद्र मोदी...- India TV Hindi
Image Source : @PIBMUMBAI जहां नरेंद्र मोदी कभी बेचा करते थे चाय, आज खुद करेंगे उस रेलवे स्टेशन के नए परिसर का उद्घाटन

गांधीनगर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पुनर्निर्मित वडनगर रेलवे स्टेशन का आज डिजिटल तरीके से उद्घाटन करेंगे, जहां वह बचपन में चाय बेचते थे। गुजरात के मेहसाणा जिले में स्थित यह कस्बा मोदी का गृहनगर है। वडनगर शहर ‘‘धरोहर सर्किट’’ में आता है, इसलिए वहां के रेलवे स्टेशन की इमारत को 8.5 करोड़ रुपये की लागत से हेरिटेज लुक दिया गया है। वडनगर रेलवे स्टेशन के अंदर प्रधानमंत्री मोदी के पिता दामोदरदास मोदी की चाय की दुकान थी। बचपन के दिनों में, मोदी स्टेशन पर चाय बेचने में अपने पिता की मदद करते थे।

वडनगर रेलवे स्टेशन

Image Source : SOCIAL MEDIA
वडनगर रेलवे स्टेशन

गुजरात सरकार के अधिकारियों ने कहा कि नवीनीकृत रेलवे स्टेशन के अलावा, मोदी कई अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन करने वाले हैं, जिसमें पुनर्विकसित गांधीनगर रेलवे स्टेशन के ऊपर निर्मित एक पांच सितारा होटल और अहमदाबाद में साइंस सिटी में कुछ नए आकर्षण शामिल हैं। ऑनलाइन कार्यक्रम के दौरान मोदी गांधीनगर-वरेथा मेमू ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाएंगे। वडनगर रेलवे स्टेशन उस मार्ग पर पड़ने वाले प्रमुख स्टेशनों में से एक है। चूंकि यह हेरिटेज सर्किट का भी हिस्सा है, इसलिए पर्यटन मंत्रालय ने मौजूदा स्टेशन की इमारत और उसके प्रवेश द्वार को हेरिटेज लुक देने के लिए 8.5 करोड़ रुपये खर्च किए।

वडनगर रेलवे स्टेशन

Image Source : SOCIAL MEDIA
वडनगर रेलवे स्टेशन

वरेथा मेहसाणा जिले का एक छोटा सा गांव है और प्रसिद्ध तरंगा हिल के करीब है, जो एक लोकप्रिय पर्यटक के साथ-साथ धार्मिक स्थान भी है। अभी तक मेहसाणा स्टेशन तरंगा पहाड़ी से मीटर गेज रेलवे लाइन के माध्यम से जुड़ा हुआ था। चूंकि तरंगा हिल तक ब्रॉड गेज लाइन बिछाना तकनीकी रूप से संभव नहीं था, इसलिए गेज को पहाड़ी से सिर्फ 3 किलोमीटर पहले वरेथा तक बदल दिया। आज, प्रधानमंत्री उस 54 किलोमीटर खंड का भी उद्घाटन करेंगे, जिसे ब्रॉड गेज में परिवर्तित कर दिया गया है और इस लाइन को विद्युतीकृत भी कर दिया गया है।

Click Mania
bigg boss 15