1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. बिहार-झारखंड में भारत बंद का मिलाजुला असर, कोयलांचल में दिखा खासा असर

बिहार-झारखंड में भारत बंद का मिलाजुला असर, कोयलांचल में दिखा खासा असर

केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ केंद्रीय मजदूर संघों के राष्ट्रव्यापी बंद के आह्वान का बुधवार को बिहार और झारखंड में मिलाजुला असर देखा गया। झारखंड में अन्य क्षेत्रों में बंद का कोई खास असर नहीं दिख रहा है, परंतु कोयलांचल में बंद का प्रभाव दिख रहा है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 08, 2020 13:57 IST
बिहार-झारखंड में भारत बंद का मिलाजुला असर, कोयलांचल में दिखा खासा असर- India TV
बिहार-झारखंड में भारत बंद का मिलाजुला असर, कोयलांचल में दिखा खासा असर

पटना/रांची: केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ केंद्रीय मजदूर संघों के राष्ट्रव्यापी बंद के आह्वान का बुधवार को बिहार और झारखंड में मिलाजुला असर देखा गया। झारखंड में अन्य क्षेत्रों में बंद का कोई खास असर नहीं दिख रहा है, परंतु कोयलांचल में बंद का प्रभाव दिख रहा है। बिहार की राजधानी सहित कई क्षेत्रों में बंद के समर्थन में श्रमिक संगठनों के लोग सड़क पर उतरे और जुलूस निकाला। बंद को लेकर अभी तक इन दोनों राज्यों में कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है। बिहार में इस बंद को लेकर वामपंथी दल के नेता और कार्यकर्ता भी सड़क पर उतर गए हैं।

Related Stories

राजधानी पटना में श्रमिक संगठनों और वामपंथी दल के नेताओं ने बंद के समर्थन में 'मार्च' निकाल कर सरकार की नीतियों का विरोध किया। राजेंद्र नगर टर्मिनल और पटना जंक्शन पर कई संगठनों के लोगों ने प्र्दशन किया, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें वहां से हटा दिया।

बेगूसराय में ट्रेड यूनियन हड़ताल समर्थकों ने बस स्टैंड के पास एनएच 31 को कुछ देर के लिए जाम किया, जिससे आवागमन प्रभावित हुआ।

मोतिहारी, खगड़िया, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, भोजपुर में बंद समर्थक सड़क पर उतरे। बंद से कई जगहों पर सड़क और रेल आवागमन बाधित हुआ। इधर, जहानाबाद और अरवल में भी बंद समर्थकों ने कई मुख्य मार्गो को जाम कर दिया। हड़ताल के कारण सरकारी कार्यालयों में भी असर दिखा। बैंक और बीमा कंपनियों के हड़ताल में शामिल होने के कारण सड़कों पर आवाजाही कम देखी जा रही है।

भाकपा (माले) के बिहार प्रदेश सचिव कुणाल ने बताया कि केंद्र की मोदी सरकार की किसान-मजदूर और जनविरोधी नीतियों के खिलाफ बुधवार का बंद ऐतिहासिक है। वाम दलों के तमाम नेता एवं कार्यकर्ता बंद को सफल बनाने के लिए सड़क पर उतरे हैं।

इधर, झारखंड में अन्य क्षेत्रों में बंद का कोई विशेष प्रभाव नहीं दिख रहा, परंतु कोयलांचल में केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ मजदूर संगठनों और वामदलों के बुलाए देशव्यापी बंद का खासा असर देखने को मिल रहा है।

रामगढ़ शहर में बैंक भी बंद रहे और मजदूर संगठनों के लोगों ने बाजार बंद करा दिया। रामगढ़ जिले के उरीमारी, सयाल, रजरप्पा, तोपा, करमा, चरही, भुरकुंडा, वेस्ट बोकारो आदि कोयला खदानों में उत्पादन और ढुलाई का कार्य पूरी तरह ठप हो गया है। धनबाद और जमशेदपुर में भी बंद का मिलाजुला प्रभाव देखा जा रहा है। धनबाद में भी कोयला खदानें बंद देखी गईं। बोकारो स्टील प्लांट के मुख्य द्वार पर श्रमिकों ने विरोध प्रदर्शन किया।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13