ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. कृषि कानूनों के खिलाफ कल ट्रेनें रोकने का ऐलान, संयुक्त किसान मोर्चा ने की यह अपील

कृषि कानूनों के खिलाफ कल ट्रेनें रोकने का ऐलान, संयुक्त किसान मोर्चा ने की यह अपील

कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसानों के आंदोलन के तहत गुरुवार को दोपहर 12 से 4 बजे तक देशभर में रेल रोको कार्यक्रम का ऐलान किया गया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रदर्शनकारियों से इस दौरान शांति बनाए रखने की अपील की है।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 17, 2021 22:15 IST
Farmers to stage 'rail roko' tomorrow, Samyukta Kisan Morcha made this appeal- India TV Hindi
Image Source : PTI कृषि कानूनों के विरोध में कल दोपहर 12 से 4 बजे तक देशभर में रेल रोको कार्यक्रम का ऐलान किया गया है।

नई दिल्ली: कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसानों के आंदोलन के तहत गुरुवार को दोपहर 12 से 4 बजे तक देशभर में रेल रोको कार्यक्रम का ऐलान किया गया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रदर्शनकारियों से इस दौरान शांति बनाए रखने की अपील की है। देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर 26 नवंबर 2020 से डेरा डाले किसानों की अगुवाई करने वाले संगठनों का संघ संयुक्त मोर्चा के नेता डॉ. दर्शनपाल ने बुधवार को एक बयान में कहा, "18 फरवरी को देशभर में रोल रोको कार्यक्रम में सभी से शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील की जाती है। दोपहर 12 से 4 बजे तक रेल रोकने का कार्यक्रम है जिसमें देशभर से समर्थन की उम्मीद है।"

इसे देखते हुए रेलवे ने पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल पर ध्यान केन्द्रित करने के साथ ही देशभर में रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) की 20 अतिरिक्त कंपनियां तैनात की है। रेलवे सुरक्षा बल के महानिदेशक, अरुण कुमार ने बुधवार को कहा, ‘‘मैं सभी से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। हम जिला प्रशासनों के साथ संपर्क बनाए रखेंगे और नियंत्रण कक्ष बनाएंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम खुफिया जानकारी इकट्ठा करेंगे। पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों और कुछ अन्य क्षेत्रों पर हमारा ध्यान केंद्रित रहेगा। हमने इन क्षेत्रों में रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) की 20 कंपनियों (लगभग 20,000 कर्मियों) को तैनात किया है।’’ अरुण कुमार ने कहा, ‘‘हम उन्हें इस बात पर राजी करना चाहते हैं कि यात्रियों को कोई असुविधा नहीं हो और हम चाहते हैं कि यह (रेल रोको) अभियान शांतिपूर्ण ढंग से समाप्त हो जाये।’’ 

एसकेएम ने कहा था कि देशभर में दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक रेलों की आवाजाही को अवरुद्ध किया जायेगा। गौरतलब है कि आंदोलनकारी केंद्र सरकार द्वारा पिछले साल लाए गए तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर फसलों की खरीद की गारंटी की मांग कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें

elections-2022