1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. झारखंड में नहीं शुरू हुआ 18-45 साल के लोगों का वैक्सीनेशन, कोरोना टीके की कमी

झारखंड में नहीं शुरू हुआ 18-45 साल के लोगों का वैक्सीनेशन, कोरोना टीके की कमी

केन्द्र सरकार की घोषणा के अनुकूल 18 वर्ष से 45 वर्ष तक उम्र के लोगों का झारखंड में शनिवार से कोविड-19 के संक्रमण के खिलाफ टीकाकरण प्रारंभ नहीं हो सका क्योंकि राज्य सरकार को इस उद्देश्य से आवश्यक टीके उपलब्ध नहीं हो पाये।

Bhasha Bhasha
Updated on: May 01, 2021 21:11 IST
झारखंड में नहीं शुरू हुआ 18 -45 साल के लोगों का वैक्सीनेशन, कोरोना टीके की कमी- India TV Hindi
Image Source : PTI झारखंड में नहीं शुरू हुआ 18 -45 साल के लोगों का वैक्सीनेशन, कोरोना टीके की कमी

रांची: केन्द्र सरकार की घोषणा के अनुकूल 18 वर्ष से 45 वर्ष तक उम्र के लोगों का झारखंड में शनिवार से कोविड-19 के संक्रमण के खिलाफ टीकाकरण प्रारंभ नहीं हो सका क्योंकि राज्य सरकार को इस उद्देश्य से आवश्यक टीके उपलब्ध नहीं हो पाये। झारखंड के स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण सिंह ने बताया कि झारखंड सरकार ने कोविड-19 के नियंत्रण के लिए देश में बने दोनों टीकों कोवीशील्ड एवं कोवैक्सिन की उत्पादक कंपनियों को 25-25 लाख टीकों की आपूर्ति का अनुरोध किया था लेकिन दोनों कंपनियों ने अब तक टीकों की आपूर्ति नहीं की है। 

उन्होंने बताया कि 18 वर्ष से 45 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए राज्य को अभी तक कोई भी टीका नहीं मिल सका है। लिहाजा फिलहाल एक मई से इस आयु वर्ग के लोगों का केंद्र सरकार द्वारा घोषित टीकाकरण कार्यक्रम अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि टीका उपलब्ध होते ही इस आयु वर्ग के लिए टीकाकरण कार्यक्रम की घोषणा की जायेगी। देर शाम मुख्यमंत्री कार्यालय से इस सिलसिले में एक अधिकृत सूचना भी जारी की गयी और बताया गया कि राज्य सरकार राज्य के लोगों के लिए टीके खरीदने के लिए प्रयासरत है। 

सिंह ने एक सवाल के जवाब में बताया कि राज्य में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए पहले से कोविड-19 के खिलाफ चल रहा टीकाकरण यथावत् जारी है। इस टीकाकरण अभियान में कोई रुकावट फिलहाल नहीं आयी है। उन्होंने बताया कि 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण के लिए राज्य के पास केन्द्र सरकार द्वारा भेजे टीके अभी लगभग सात दिनों के लिए पर्याप्त हैं। अतः इस आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण का कार्यक्रम जारी है। 

सिंह ने बताया कि राज्य सरकार ने कोविशील्ड टीका बनाने वाली कंपनी ‘सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया’ और कोवैक्सिन टीका बनाने वाली भारतीय कंपनी भारत बायोटेक, दोनों से झारखंड के लोगों के लिए 25-25 लाख टीकों की आपूर्ति करने का आग्रह किया गया था लेकिन उन्होंने कहा है कि अभी तत्काल इतनी संख्या में टीके देने की स्थिति में वे नहीं हैं। 

उन्होंने बताया कि झारखंड सरकार के 25-25 लाख टीकों की मांग के आलोक में केन्द्र सरकार ने इन कंपनियों से झारखंड के लिए क्रमशः 3.47 लाख तथा 1.93 लाख टीकों का कोटा तय किया है लेकिन ये टीके भी राज्य में कब पहुंचेंगे, इसकी कोई सूचना नहीं है। सिंह ने बताया कि जैसे ही भारत सरकार द्वारा तय कोटे के टीके झारखंड पहुंचेंगे राज्य में 18 वर्ष से 45 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण प्रारंभ कर दिया जायेगा। 

झारखंड सरकार ने केन्द्र सरकार की 19 अप्रैल की घोषित सर्वव्यापी टीकाकरण योजना के तहत कोविड-19 के खिलाफ राज्य में 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के एक करोड़, 57 लाख लोगों के टीकाकरण की योजना बनायी है। जिन्हें कोविड के खिलाफ लड़ाई के तीसरे चरण में राज्य में टीका लगाया जाना है और इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर 28 अप्रैल से कोविन ऐप पर पंजीकरण प्रारंभ भी हो चुका है। 

इसके अलावा झारखंड में 45 वर्ष से अधिक उम्र के 83 लाख लोगों का टीकाकरण किया जाना है जिनमें से लगभग 30 लाख लोगों का टीकाकरण अबतक किया जा चुका है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X