1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. जसवंत सिंह के निधन पर शोक में डूबे लाल कृष्ण आडवाणी, कहा- मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति है

जसवंत सिंह के निधन पर शोक में डूबे लाल कृष्ण आडवाणी, कहा- मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति है

पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह का लंबी बीमारी के बाद 82 साल की उम्र में रविवार को निधन हो गया। उनके निधन पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने गहरा शोक जाहिर किया।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: September 27, 2020 13:45 IST
जसवंत सिंह के निधन पर शोक में डूबे लाल कृष्ण आडवाणी, कहा- मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति है- India TV Hindi
Image Source : PTI (FILE) जसवंत सिंह के निधन पर शोक में डूबे लाल कृष्ण आडवाणी, कहा- मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति है

नई दिल्ली: पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह का लंबी बीमारी के बाद 82 साल की उम्र में रविवार को निधन हो गया। उनके निधन पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने गहरा शोक जाहिर किया। उन्होंने बयान जारी कर कहा,  "मेरे पास संवेदना जताने के लिए शब्द नहीं हैं। वह न केवल पार्टी में मेरे सबसे करीबी सहयोगियों में से एक थे बल्कि एक बहुत प्रिय मित्र भी थे।"

उन्होंने कहा, "जसवंत जी एक उत्कृष्ट सांसद, एक चतुर कूटनीतिज्ञ, एक महान प्रशासक और सबसे बढ़कर एक देशभक्त थे। राजस्थान से आने वाले जसवंत जी BJP के सबसे बड़े नेताओं में से एक बन गए। पार्टी में उनका बड़ा योगदान है। वाजपेयी सरकार में उन्होंने रक्षा, विदेश और वित्त मंत्रालय जैसी तीन अहम जिम्मेदारियां संभाली। इस दौरान छह सालों में अटल जी, जसवंत जी और मेरे बीच विशेष रिश्ता बना।"

उन्होंने कहा, "एक व्यक्ति के रूप में जसवंत जी सज्जन थे। उन्हें एक मृदुभाषी, प्रफुल्लित और दिल के अच्छे व्यक्ति के रूप में याद किया जाएगा। वह अपने तेज, विश्लेषणात्मक दिमाग के लिए जाने जाते थे और राजनीति से जुड़ों लोगों द्वारा उनका सम्मान किया जाता था।" उन्होंने कहा, "मेरी तरह ही जसवंत जी भी किताबों के बड़ा प्रेम करते थे। हमने कई बार साझा रूचि के नोट्स भी शेयर किए।"

लाल कृष्ण आडवाणी ने बयान में कहा, "उनका जाना देश और खासकर मेरे लिए बहुत बड़ी क्षति है। शीतल जी, मानवेंद्र सिंह और भूपेंद्र सिंह तथा परिवार के अन्य सदस्यों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। ओम शांति।”

बता दें कि जसवंत सिंह ने दिल्ली में सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में अंतिम सांस ली। वह पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के करीबी माने जाते थे। सैन्य अस्पताल ने एक बयान जारी कर कहा, ‘‘बड़े दुख के साथ सूचित किया जा रहा है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का आज सुबह 6.55 बजे निधन हो गया। उन्हें 25 जून को भर्ती कराया गया था। आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हुआ।’’

बयान में कहा गया कि विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम ने उन्हें बचाने का भरपूर प्रयास किया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक उनका अंतिम संस्कार आज ही राजस्थान के जोधपुर में होगा। पूर्व सैन्य अधिकारी सिंह अगस्त 2014 में अपने घर में गिरने के बाद से बीमार थे। उन्हें सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद से उन्हें कई बार अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस साल जून में उन्हें दोबारा अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X