Monday, April 15, 2024
Advertisement

नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम किशिदा फुमियो बनाएंगे चीन को समुद्र में घेरने की रणनीति! जापानी PM भारत दौरे पर

किशिदा फुमियो 20 मार्च को ही दिल्ली में एक व्याख्यान में भाग लेंगे। इस व्याख्यान में वे भारत-प्रशांत योजना की रूपरेखा पेश करेंगे, जिसे भारत और जापान की दोस्ती के लिए अहम माना जा रहा है। क्योंकि हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन की गतिविधियां लगातार बढ़ रही है

Deepak Vyas Written By: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Published on: March 19, 2023 21:46 IST
नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम किशिदा फुमियो बनाएंगे चीन को समुद्र में घेरने की रणनीति! जापानी PM भार- India TV Hindi
Image Source : AP FILE नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम किशिदा फुमियो बनाएंगे चीन को समुद्र में घेरने की रणनीति! जापानी PM भारत दौरे पर

India-Japan: जापान के प्रधानमंत्री किशिदा फुमियो 2 दिन की यात्रा पर भारत आ रहे हैं। इस दौरान जापान के पीएम किशिदा फुमियो और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच 20 मार्च को दिल्ली के हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय वार्ता होगी। ये भारत-जापान के बीच सालाना शिखर सम्मेलन का हिस्सा है। किशिदा फुमियो 20 मार्च को ही दिल्ली में एकव्याख्यान में भाग लेंगे। इस व्याख्यान में वे भारत—प्रशांत योजना की रूपरेखा पेश करेंगे, जिसे भारत और जापान की दोस्ती के लिए अहम माना जा रहा है। क्योंकि हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन की गतिविधियां लगातार बढ़ रही है और ऐसे में क्षेत्रीय शांति को बरकरार रखने के लिए स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र से जुड़ी योजना अहम रहेगी।

नए इंडो-पैसिफिक प्लान पर नज़र

नए इंडो-पैसिफिक प्लान का मुख्य उद्देश्य पूरे क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव और विस्तारवादी रुख को संतुलित करना है। साथ ही इस क्षेत्र में विकासशील देशों को विकास और रक्षा सहयोग को बढ़ाने का ज्यादा विकल्प मुहैया कराने पर भी ज़ोर होगा।

दोनों संभाल रहे हैं अहम अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारी

जापान के प्रधानमंत्री किशिदा फुमियो का भारत दौरा उस वक्त हो रहा है, जब दोनों ही देश बहुत बड़ी अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारी निभा रहे हैं। भारत  जी 20 की अध्यक्षता कर रहा है और जापान दुनिया के सबसे विकसित देशों  जी7 की अध्यक्षता कर रहा है। वर्तमान में भारत शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी निभा रहा है। वैश्विक नजरिए से दोनों देशों के लिए इन समूहों की अध्यक्षता बेहद महत्वपूर्ण है।

रूस-यूक्रेन युद्ध के नजरिए से महत्वपूर्ण

कूटनीतिक तौर से जापान के प्रधानमंत्री का भारत दौरा इस लिहाज से भी ख़ास है क्योंकि इस वक्त दुनिया पिछले एक साल से रूस-यूक्रेन युद्ध के प्रभावों से जूझ रही है। वहीं भारत, रूस के खिलाफ इस तरह के किसी कार्रवाई से परहेज कर रहा है। दो मार्च को हुई जी20 विदेश मंत्रियों की बैठक में शामिल होने के लिए जापान के विदेश मंत्री योशिम्सा हायाशी भारत नहीं आए थे।

 ऐसे में ये भी कहा जा रहा था कि रूस को लेकर भारत के रवैये से जापान उतना खुश नहीं है। लेकिन उसके चंद दिनों बाद ही जापान के प्रधानमंत्री के भारत दौरे की घोषणा से उन अटकलों पर विराम लग गया था। भारत और जापान दोनों की ही पहचान शांतिप्रिय देश के तौर पर होती है। 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement