Tuesday, June 25, 2024
Advertisement

Newsclick Case: अमेरिका का बड़ा बयान-पत्रकारों पर छापेमारी की है जानकारी, चीनी लिंक पर टिप्पणी नहीं

दिल्ली स्थित न्यूज क्लिक वेबसाइट के पत्रकारों के ठिकानों पर छापेमारी के बाद कार्यालय को सील कर दिया गया है और दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले पर अमेरिका ने कहा है कि इसकी जानकारी हमें भी है।

Edited By: Kajal Kumari @lallkajal
Published on: October 04, 2023 13:33 IST
US on newsclick issue- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO अमेरिका ने न्यूज क्लिक मामले में कही ये बड़ी बात

न्यूज़क्लिक मामले में दिल्ली पुलिस ने बताया कि “स्पेशल सेल में दर्ज यूएपीए मामले के संबंध में की गई तलाशी, जब्ती और हिरासत के संबंध में अब तक दो आरोपियों, प्रबीर पुरकायस्थ और अमित चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया गया है और अमित चक्रवर्ती को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। न्यूज क्लिक के परिसर में कुल 37 पुरुष संदिग्धों से पूछताछ की गई है, 9 महिला संदिग्धों से उनके रहने के स्थानों पर पूछताछ की गई है और डिजिटल उपकरणों, दस्तावेजों आदि को जांच के लिए जब्त किया गया है। अमेरिकी सरकार ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि हालांकि उन्हें भारत में पत्रकारों पर छापे की जानकारी है, लेकिन वे चीनी लिंक के आरोपों की सत्यता पर टिप्पणी नहीं कर सकते।

चीन के दावों पर कोई टिप्पणी नहीं-अमेरिका

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रधान उप प्रवक्ता वेदांत पटेल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि "हम उन चिंताओं से अवगत हैं और हमने पीआरसी (पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना) के साथ इस आउटलेट के संबंधों के बारे में रिपोर्टिंग देखी है, लेकिन हम उन दावों की सत्यता पर अभी तक टिप्पणी नहीं कर सकते हैं।" पटेल की टिप्पणी तब आई है जब दिल्ली पुलिस ने दिन में ऑनलाइन पोर्टल न्यूज़क्लिक के कई पत्रकारों और कर्मचारियों के घरों पर छापा मारा और इसके संस्थापक और प्रधान संपादक प्रबीर पुरकायस्थ को गैरकानूनी गतिविधियों (रोकथाम) के तहत दर्ज एक मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किया।

मीडिया की मजबूत भूमिका का समर्थन करते हैं

पटेल ने स्पष्ट किया कि "अमेरिकी सरकार एक जीवंत और स्वतंत्र लोकतंत्र में सोशल मीडिया सहित वैश्विक स्तर पर मीडिया की मजबूत भूमिका का दृढ़ता से समर्थन करती है और हम इन मामलों पर भारत सरकार के साथ, दुनिया भर के देशों के साथ अपनी राजनयिक व्यस्तताओं के माध्यम से चिंताओं को उठाते हैं जो हमारे द्विपक्षीय संबंधों के मूल में हैं।" उन्होंने आगे कहा कि अमेरिका ने भारत सरकार के साथ-साथ अन्य देशों को "ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सहित पत्रकारों के मानवाधिकारों के सम्मान के महत्व" पर प्रकाश डाला है। पटेल ने स्पष्ट किया कि उनके पास इस मामले पर अतिरिक्त जानकारी नहीं है और वे उन विशेष परिस्थितियों या अंतर्निहित मुद्दों से अनभिज्ञ हैं जो संबंधित हो भी सकते हैं और नहीं भी।

पुरकायस्थ को इन आरोपों के बाद गिरफ्तार किया गया था कि न्यूज़क्लिक को चीन समर्थक प्रचार के लिए धन मिला था। न्यूज़क्लिक के मानव संसाधन प्रमुख अमित चक्रवर्ती को भी पुरकायस्थ के साथ आज गिरफ्तार किया गया और उन्हें बुधवार को दिल्ली की अदालत में पेश किया जाएगा। द न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, समाचार वेबसाइट हाल ही में भारत में चीन समर्थक प्रचार के लिए अमेरिकी करोड़पति नेविल रॉय सिंघम से कथित तौर पर धन प्राप्त करने के लिए सुर्खियों में आई थी।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement