1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. नोएडा के कैलाश हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की भारी कमी, नए मरीजों की भर्ती बंद

नोएडा के कैलाश हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की भारी कमी, नए मरीजों की भर्ती बंद

दिल्ली-NCR में ऑक्सीजन का संकट बहुत बड़ा हो गया है। बड़े-बड़े अस्पतालों में ऑक्सीजन की शॉर्टेज हो गई है। आज दिल्ली के पास नोएडा के कैलाश हॉस्पिटल ने ऑक्सीजन को लेकर गुहार लगाई है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 22, 2021 17:01 IST
Kailash Hospital left with just 3-4 hours of oxygen supply, no new COVID-19 patient being admitted- India TV Hindi
Image Source : FILE दिल्ली-NCR में ऑक्सीजन का संकट बहुत बड़ा हो गया है।

नोएडा: दिल्ली-NCR में ऑक्सीजन का संकट बहुत बड़ा हो गया है। बड़े-बड़े अस्पतालों में ऑक्सीजन की शॉर्टेज हो गई है। आज दिल्ली के पास नोएडा के कैलाश हॉस्पिटल ने ऑक्सीजन को लेकर गुहार लगाई है। कैलाश हॉस्पिटल ने कहा कि अस्पताल में ऑक्सीजन की भारी कमी हो गई है। हॉस्पिटल के पास सिर्फ 4-5 घंटे की ऑक्सीजन ही बची है। ऐसे में कैलाश हॉस्पिटल में नए मरीजों की भर्ती बंद कर दी गई है।

ग्रुप मेडिकल डायरेक्टर, डॉ. रितु बोहरा ने बताया, “हमारे पास गौतम बौद्ध नगर में 4 अस्पताल हैं, सभी में संकट है। हमें बताया गया है कि हमें ऑक्सीजन की सप्लाई अगले 36 घंटे के बाद मिलेगी। हमने मरीजों की भर्ती रोक दी है।”

बता दें कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहे पूरे देश में इस समय ऑक्सीजन की कमी का संकट देखा जा रहा है। महाराष्ट्र और दिल्ली एनसीआर के कई अन्य अस्पतालों में भी ऑक्सीजन की कमी का संकट देखा जा रहा है। यहां तक कि कई अस्पतालों ने नए मरीजों को भर्ती करने से इनकार कर दिया है।

इस बीच गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस से देश में बिगड़ते हालात और अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर बड़ा फैसला लिया है। गृह मंत्रालय की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि राज्यों के बीच मेडिकल ऑक्सीजन की आवाजाही पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा। 

गृह मंत्रालय ने राज्यों से कहा कि वे परिवहन निगमों को ऑक्सीजन परिवहन में शामिल वाहनों की मुक्त अंतरराज्यीय आवाजाही की इजाजत का आदेश दें। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को साफ निर्देश दिए कि परिवहन प्राधिकरणों (स्टेट अथॉरिटीज) को कहा जाएगा कि वे ऑक्सीजन लेकर जा रही गाड़ियों को अंतरराज्यीय मूवमेंट को फ्री करें।

ये भी पढ़ें

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X