लखीमपुर हिंसा: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष से होगी पूछताछ

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा मामले में यूपी पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस महानरीक्षक (लखनऊ) लक्ष्मी सिंह ने बताया कि लखीमपुर खीरी मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे और लखीमपुर खीरी घटना के आरोपी आशीष अगर पूछताछ के लिए हाजिर नहीं होते तो कानूनी प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

Vishal Pratap Singh Reported by: Vishal Pratap Singh @vishalpsing
Updated on: October 07, 2021 17:08 IST
लखीमपुर हिंसा: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, 3 आरोपी हिरासत में लिए गए- India TV Hindi News
Image Source : PTI FILE PHOTO लखीमपुर हिंसा: पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, 3 आरोपी हिरासत में लिए गए

लखनऊ: 3 अक्टूबर को यूपी के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में यूपी पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने लवकुश और आशीष पाडे नान के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं पुलिस ने 3 आरोपियों को हिरासत में लिया है। पुलिस महानरीक्षक (लखनऊ) लक्ष्मी सिंह ने बताया कि लखीमपुर खीरी मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे और लखीमपुर खीरी घटना के आरोपी आशीष अगर पूछताछ के लिए हाजिर नहीं होते तो कानूनी प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

लखनऊ रेंज की आईजी लक्ष्मी सिंह ने बताया कि 'हम लोगों ने 2 लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया है, उनके बयानों के आधार पर 3 अन्य की गिरफ़्तारी की गई। पूछताछ जारी है ये हमें बहुत सारी जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं, बहुत जल्द आगे की कार्यवाही की जाएगी। आशीष मिश्रा की गिरफ़्तारी के सवाल का जवाब देते हुए लखनऊ रेंज की आईजी लक्ष्मी सिंह ने बताया कि मुख्य आरोपी को भी हम आज समन भेज रहे हैं। हम उनका बयान दर्ज़ करेंगे। उसके आधार पर आगे सबूत इकट्ठे कर रहे हैं। 

लखीमपुर हिंसा : न्यायालय ने उप्र सरकार से पूछा, क्या आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं?

उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार से बृहस्पतिवार को यह बताने के लिए कहा कि तीन अक्टूबर की लखीमपुर खीरी हिंसा के सिलसिले में किन आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है और उन्हें गिरफ्तार किया गया है या नहीं। इस घटना में आठ लोगों की मौत हो गई थी।

प्रधान न्यायाधीश एन वी रमण, न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न्यायमूर्ति हिमा कोहली की पीठ ने उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से पेश हुए वकील को इस बारे में स्थिति रिपोर्ट में जानकारी देने का निर्देश दिया। वकील ने पीठ से कहा कि घटना की जांच के लिए एक न्यायिक आयोग का गठन किया गया है और राज्य मामले में एक स्थिति रिपोर्ट दाखिल करेगा।

शीर्ष अदालत ने मामले में अगली सुनवाई शुक्रवार को तय की है। लखीमपुर खीरी में किसानों के प्रदर्शन के दौरान तीन अक्टूबर को हुई हिंसा में आठ लोग मारे गए थे। इससे पहले, दोपहर में शीर्ष अदालत ने कहा था कि वह उन दोनों वकीलों का पक्ष जानना चाहती है जिन्होंने लखीमपुर खीरी घटना में सीबीआई को शामिल करते हुए उच्च स्तरीय जांच का अनुरोध किया था।

 

Latest Uttar Pradesh News

navratri-2022