Wednesday, May 29, 2024
Advertisement

मुख्तार अंसारी के अंतिम संस्कार में पत्नी अफसा की मौजूदगी पर संशय, 'लेडी डॉन' पर है पुलिस की नजर

Mukhtar Ansari funeral: मुख्तार अंसारी को शनिवार को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा। मुख्तार अंसारी की पत्नी अफसा अंसारी पर पुलिस की नजर बनी हुई है। अफसा पर 75 हजार का इनाम है।

Edited By: Niraj Kumar @nirajkavikumar1
Updated on: March 30, 2024 6:19 IST
Mukhtar Ansari, Afsa Ansari- India TV Hindi
Image Source : FILE मुख्तार अंसारी और अफसा अंसारी

लखनऊ : माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को शनिवार को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा। अब इस बात को लेकर संशय है कि मुख्तार के अंतिम संस्कार की रस्म में उसकी पत्नी अफसा अंसारी मौजूद रहेगी या नहीं। क्योंकि यूपी पुलिस की 'लेडी डॉन' की लिस्ट में अफसा का नाम है और पुलिस उसे लंबे अर्से से तलाश रही है। 

सादे कपड़ों में पुलिस तैनात

धारा 144 लागू करने के बावजूद यूपी पुलिस ने ग़ाज़ीपुर के मोहम्मदाबाद में अंसारी परिवार के पैतृक कब्रिस्तान में सुरक्षा बढ़ा दी है। अफसा पर नजर रखने के लिए सादे कपड़ों में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। गाजीपुर केअतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) ओमवीर सिंह ने कहा -हमने कब्रिस्तान और उसके आसपास व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की है। इसके अलावा फरार अफसा अंसारी की गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखने और किसी भी कानून-व्यवस्था के उल्लंघन से बचने के लिए सादे कपड़ों में कर्मचारियों को तैनात किया है। 

मुख्तार अंसारी की गुरुवार देर शाम यूपी के बांदा मेडिकल कॉलेज में दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। अस्पताल की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन में यह कहा गया कि मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें रात 8.25 बजे बांदा जिला जेल से लाया गया। नौ डॉक्टरों की एक टीम ने उनका इलाज किया लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद दिल का दौरा पड़ने से  उनका निधन हो गया।

एक साल से फरार, सिर पर 75,000 रुपये का इनाम

अफसा गैंगस्टर एक्ट समेत कई मामलों में वांटेड है और एक साल से ज्यादा समय से फरार है। हालांकि यूपी पुलिस ने पिछले साल उसके सिर पर नकद इनाम बढ़ाकर 75,000 रुपये कर दिया था। लेकिन पुलिस अभी तक अफसा को गिरफ्तार करने में सफल नहीं हो पाई है। 

तीन बड़े मामलों में तलाश

अफसा खुद को हाउस वाइफ बताती है लेकिन पुलिस को तीन बड़े मामलों में उसकी तलाश है। इनमें वर्ष 2019 में दर्ज छावनी लाइन और बबेड्डी इलाके में जमीन हड़पने के दो मामले भी शामिल हैं। 31 जनवरी, 2022 को उसके खिलाफ मऊ के दक्षिण टोला पुलिस स्टेशन में गैंगस्टर एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। अफसा का परिवार यूपी के विभिन्न जिलों में आपराधिक गतिविधियों से भी जुड़ा रहा है। अफसा के भाई आतिफ रजा उर्फ शरजील रजा और अनवर शहजाद कथित तौर पर फरार अपराधी हैं। 

शाइस्ता परवीन के बाद अफसा दूसरी 'लेडी डॉन' है, जिसके सिर पर नकद इनाम (50,000 रुपये) है। 24 फरवरी 2023 को प्रयागराज में वकील उमेश पाल और उनके दो पुलिस गनर की सनसनीखेज हत्याओं में शाइस्ता का नाम प्रमुख साजिशकर्ताओं में सामने आया था । शाइस्ता के पति अतीक अहमद और उनके भाई अशरफ की 15 अप्रैल, 2023 को प्रयागराज में उस समय हत्या कर दी गई थी जब उन्हें मेडिकल जांच के लिए ले जाया जा रहा था। शाइस्ता अपने पति अतीक अहमद को अंतिम विदाई देने नहीं आई थी। वहीं पुलिस एनकाउंटर में मारे गए अपने बेटे असद को भी अंतिम विदाई देने के लिए शाइस्ता नहीं पहुंची थी। 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें उत्तर प्रदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement