Wednesday, December 06, 2023

Pakistan Election 2024: आयोग ने कहा-"आम चुनाव कराएंगे, मगर कोई तारीख नहीं बताएंगे"

पाकिस्तान में चुनाव की तारीखों को लेकर आयोग कोई फैसला नहीं कर पा रहा है। लिहाजा पाकिस्तान की राजनीतिक पार्टियों में उहापोह की स्थिति बनी हुई है। चुनाव आयोग ने कहा है कि मतदान 2024 में ही कराए जाएंगे, मगर कोई तारीख बता पाना अभी संभव नहीं है।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: September 23, 2023 18:21 IST
प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi
Image Source : AP प्रतीकात्मक फोटो

पाकिस्तान में आम चुनावों को लेकर राजनीतिक पार्टियों में जिजीविषा को लेकर चुनाव आयोग ने रहस्य को बनाए रखा है। चुनाव आयोग ने कहा है कि अगले वर्ष चुनाव तो कराए जाएंगे, मगर कोई तारीख अभी नहीं बताई जा सकती है। इससे राजनीतिक पार्टियां सकते में आ गई हैं। पाकिस्तान के निर्वाचन आयोग (ईसीपी) ने कहा है कि आम चुनावों के लिए कोई निश्चित तारीख बता पाना तकनीकी कारणों से संभव नहीं है। एक दिन पहले ही देश के राजनीतिक दलों ने आयोग से चुनाव की निश्चित तारीख बताने की मांग की थी। निर्वाचन आयोग ने बृहस्पतिवार को ऐलान किया था कि चुनाव ‘जनवरी, 2024 के आखिरी हफ्ते’ में कराये जाएंगे।

आगामी चुनाव की निश्चित तारीख नहीं बता पाने को लेकर आयोग निशाने पर आ गया है। आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आम चुनाव की तारीख की आधिकारिक घोषणा करना ‘तकनीकी रूप से संभव’ नहीं है। डॉन अखबार की शनिवार की खबर के अनुसार, अधिकारी ने कहा कि ऐसा करने से औपचारिक प्रक्रिया तुरंत शुरू करने की आवश्यकता पड़ेगी तथा चुनाव से संबंधित विभिन्न कार्यों को समय सीमा के अंदर पूरा करने की बाध्यता होगी। उन्होंने कहा कि निर्वाचन अधिनियम की धारा 57 के तहत मतदान तारीख की घोषणा के बाद चुनाव कार्यक्रम जारी किया जाना चाहिए, जिसके साथ चुनाव की पूरी प्रक्रिया शुरू हो जाती है। इस प्रक्रिया में नामांकन पत्र दाखिल करना, उन नामांकन पत्रों की जांच, उन्हें स्वीकार करने या अस्वीकार करने के फैसलों पर अपील आदि शामिल हैं। इसके प्रत्येक चरण को एक निश्चित समयसीमा के अंदर पूरा करना होता है।

चुनाव आयोग की हो रही जमकर आलोचना

संसद के भंग होने के 90 दिनों के अंदर चुनाव कराने में विफल रहने को लेकर आयोग की आलोचना हो रही है। नेशनल असेंबली को नौ अगस्त को भंग कर दिया गया था। ‘चुनाव की तारीख पर अनिश्चतता’ पर टिप्पणी करते हुए पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के नेता कमर जमां कैरा ने कहा कि सभी को समान अवसर प्रदान करना तथा स्पष्ट एवं पारदर्शी चुनाव प्रक्रिया अनिवार्य है। जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने भी चुनाव की तारीख की घोषणा के सिलसिले में आयोग के अधिकार पर सवाल उठाया है। मीडिया में आई एक खबर में पार्टी के नेता अली जफर के हवाले से कहा गया है,‘‘ निर्वाचन आयोग की चुनाव की तारीख संवैधानिक तारीख से भी परे है।’’ वहीं, आयोग ने कहा है कि इस देरी के लिए उसके पास वैध कारण हैं क्योंकि वह नयी जनगणना के आधार पर नये चुनावी जिलों को निर्धारित करने में जुटा हुआ है। परिसीमन की कवायद 30 नवंबर को पूरी हो जाएगी। (भाषा)

यह भी पढ़ें

आर्थिक बदहाली ने पाकिस्तान को बना दिया कंगाल, 1 वर्ष में ही इतनी अधिक बढ़ गई गरीबों की संख्या

UNGA में चीन पर गरजे QUAD देश, हिंद-प्रशांत क्षेत्र की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन