1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. रैली में कत्लेआम मचाकर क्राइस्टचर्च मस्जिद हमले का बदला लेना चाहता था पूर्व सैनिक

रैली में कत्लेआम मचाकर क्राइस्टचर्च मस्जिद हमले का बदला लेना चाहता था पूर्व सैनिक

अफगानिस्तान में तैनात रहे 26 वर्षीय पूर्व सैनिक मार्क स्टीवन डोमिंगो कुछ ही समय पहले धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपना लिया था।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 30, 2019 10:28 IST
Army veteran planned to bomb rally in retribution for Christchurch Mosque Attacks | AP- India TV Hindi
Army veteran planned to bomb rally in retribution for Christchurch Mosque Attacks | AP

लॉस एंजिलिस: न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में हुए हमले का बदला लेने के लिए एक अमेरिकी सैनिक लॉस एंजिलिस में बड़े पैमाने पर हमला करने की प्लानिंग कर रहा था। हालांकि वह अपने मकसद में कामयाब हो पाता, इसके पहले ही पुलिस ने उसे धमाके का षड्यंत्र रचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। अमेरिकी मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, अफगानिस्तान में तैनात रहे 26 वर्षीय पूर्व सैनिक मार्क स्टीवन डोमिंगो कुछ ही समय पहले धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपना लिया था।

अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि मार्क स्टीवन डोमिंगो पर पिछले सप्ताह लॉंग बीच पर आयोजित श्वेत राष्ट्रवादी रैली के दौरान IED विस्फोट करने और ज्यादा से ज्यादा लोगों की जान लेने की योजना बनाने का आरोप है। डोमिंगो को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया। उस दिन एक अंडरकवर एजेंट ने डोमिंगो को एक पैकेट दिया, जिसे पूर्व सैनिक ने बम समझ कर ले लिया। अदालती दस्तावेजों के मुताबिक, डोमिंगो ने ऑनलाइन पोस्ट और FBI के सूत्रों के साथ बातचीत में हिंसक जिहाद की बात स्वीकार की थी। 

शुरुआती जांच में पता चला है कि वह मुसलमानों के खिलाफ होने वाले हमलों का बदला लेकर शहीद बनना चाहता था। 14 मार्च को एक प्राइवेट ऑनलाइन ग्रुप में डोमिंगो ने एक पोस्ट किया था जिसमें न्यूजीलैंड की मस्जिदों पर हुए हमलों का जिक्र था। डोमिंगो ने मुसलमानों के खून के बदले ईसाइयों और यहूदियों से बदला लेने की बात लिखी थी। बाद में डोमिंगो से जब FBI के एजेंट ने पूछा था कि वह क्यों लोगों को मारना चाहता है, तो उसने कहा था कि शहीद होने के लिए।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment