1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. पीक से 79% तक कम हुए नए कोरोना केस, प्रति 10 लाख आबादी पर कुल 20822 पॉजिटिव मिले

पीक से 79% तक कम हुए नए कोरोना केस, प्रति 10 लाख आबादी पर कुल 20822 पॉजिटिव मिले

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, "भारत में प्रति 10 लाख की आबादी पर कोविड-19 के 20,822 मामले सामने आए हैं और प्रति 10 लाख की आबादी पर 252 लोगों की मौत हुई है जो विश्व में सबसे कम है।"

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: June 08, 2021 19:53 IST
पीक से 79% तक कम हुए नए कोरोना केस, प्रति 10 लाख आबादी पर कुल 20822 पॉजिटिव मिले- India TV Hindi
Image Source : PTI पीक से 79% तक कम हुए नए कोरोना केस, प्रति 10 लाख आबादी पर कुल 20822 पॉजिटिव मिले

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि कोरोना वायरस के मामलों में उनके पीक से 79 फीसदी तक की कमी देखी गई है। मंत्रालय ने कहा, "कोविड-19 के नए मामलों में काफी कमी आने का सिलसिला लगातार जारी है, सात मई के चरम के मुकाबले आंकड़ों में लगभग 79 प्रतिशत की कमी आई है।"

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा, "जहां 7 मई को देश में प्रतिदिन के हिसाब से 4,14,000 मामले दर्ज़ किए गए थे, वे अब 1 लाख से भी कम हो गए हैं। पिछले 24 घंटों में 86,498 मामले देश में दर्ज़ किए गए। यह 3 अप्रैल के बाद अब तक एक दिन के सबसे कम मामले हैं।"

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, "भारत में प्रति 10 लाख की आबादी पर कोविड-19 के 20,822 मामले सामने आए हैं और प्रति 10 लाख की आबादी पर 252 लोगों की मौत हुई है जो विश्व में सबसे कम है।" लव अग्रवाल ने कहा, "3 मई को देश में रिकवरी रेट 81.8% था, अब रिकवरी रेट 94.3% हो गया है।"

लव अग्रवाल ने कहा, "पिछले 24 घंटों में देश में 1,82,000 रिकवरी हुई हैं। हर राज्य में अब रिकवरी की संख्या प्रतिदिन दर्ज़ किए जा रहे मामलों की संख्या से ज्यादा है।" उन्होंने कहा, "4 मई को देश में 531 ऐसे ज़िले थे, जहां प्रतिदिन 100 से अधिक मामले दर्ज़ किए जा रहे थे, ऐसे ज़िले अब 209 रह गए हैं।"

वहीं, दिल्ली AIIMS के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा, "भारत का या विश्व का डेटा देखें तो अब तक ऐसा कोई डेटा नहीं आया जिसमें दिखाया गया है कि बच्चों में अब ज्यादा गंभीर संक्रमण है। अभी कोई सबूत नहीं है कि अगर कोविड की अगली लहर आएगी तो बच्चों में ज्यादा गंभीर संक्रमण होगा।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X