1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. उत्तर भारत में तापमान सामान्य से अधिक, दिल्ली में जल्दी पहुंचेगा मानसून

उत्तर भारत में तापमान सामान्य से अधिक, दिल्ली में जल्दी पहुंचेगा मानसून

उत्तर भारत के कई हिस्सों में बुधवार को तापमान सामान्य सीमा से अधिक रहा, जिससे राजस्थान के कुछ इलाकों में गर्मी बढ़ गई और लू चली, जबकि मौसम विभाग ने घोषणा की है कि मानसून राष्ट्रीय राजधानी में एक हफ्ते से भी कम समय में पहुंच जाएगा।

Bhasha Bhasha
Published on: June 17, 2020 23:17 IST
उत्तर भारत में तापमान सामान्य से अधिक, दिल्ली में जल्दी पहुंचेगा मानसून - India TV Hindi
Image Source : PTI उत्तर भारत में तापमान सामान्य से अधिक, दिल्ली में जल्दी पहुंचेगा मानसून 

नयी दिल्ली: उत्तर भारत के कई हिस्सों में बुधवार को तापमान सामान्य सीमा से अधिक रहा, जिससे राजस्थान के कुछ इलाकों में गर्मी बढ़ गई और लू चली, जबकि मौसम विभाग ने घोषणा की है कि मानसून राष्ट्रीय राजधानी में एक हफ्ते से भी कम समय में पहुंच जाएगा। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने बुधवार को दिल्लीवासियों को खुशखबरी सुनाते हुए कहा कि इस बार तीन-चार दिन पहले ही मानसून राष्ट्रीय राजधानी पहुंच जाएगा। आमतौर पर मानसून 27 जून को दिल्ली पहुंचता है। 

मौसम विभाग के क्षेत्रीय अनुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि पश्चिम बंगाल और इसके आसपास मंडरा रहा एक चक्रवाती परिसंचरण 19 और 20 जून को दक्षिण पश्चिमी उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ेगा। उन्होंने कहा, ''इससे मानसून को 22 और 23 जून को पश्चिमी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों, उत्तर-पूर्वी राजस्थान और पूर्वी हरियाणा की ओर से बढ़ने में मदद मिलेगी।'' उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह है कि इस बार मानसून चार दिन पहले यानि 22-23 जून को दिल्ली पहुंच जाएगा। मौसम विभाग ने इस साल उत्तर पश्चिमी भारत में सामान्य बारिश (103 प्रतिशत) होने का अनुमान जताया है। श्रीवास्तव ने कहा कि 18 और 19 जून तक दिल्ली का मौसम शुष्क रहेगा। 

इस बीच बुधवार को दिल्ली के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहा। राजस्थान के ज्यादातर इलाके लू की चपेट में है जहां बुधवार को दिन का अधिकतम तापमान बीकानेर में 47.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने 'रेड अलर्ट' जारी कर राज्य के कई इलाकों में भीषण गर्मी की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को दिन का अधिकतम तापमान बीकानेर में 47.8 डिग्री, गंगानगर में 47.0 डिग्री, चुरू में 46.3 डिग्री, जैसलमेर में 45.5 डिग्री, राजधानी जयपुर में 44.4 डिग्री, कोटा में 43.0 डिग्री, अजमेर में 42.3 डिग्री व बाड़मेर में 42.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। विभाग ने 'रेड अलर्ट' जारी कर कहा है कि बीकानेर, बाड़मेर, हनुमानगढ़, गंगानगर, जैसलमेर, चुरू व नागौर जिले में भीषण गर्म लहर या लू चलने की संभावना है। राज्य के जोधपुर,जालौर, पाली, पिलानी, कोटा, झुंझुनू जिले भी गर्म हवाओं की चपेट में रहेंगे वहीं झालावाड़, भीलवाड़ा, उदयपुर व सिरोही जिले में मेघगर्जन के साथ तेज हवाएं चलेंगी। 

बीते चौबीस घंटे में पूर्वी राजस्थान में कहीं कहीं हल्की बारिश भी हुई। सबसे अधिक बारिश बांसवाड़ा के कुशलगढ़ में 67.0 मिमी दर्ज की गयी। वहीं पश्चिमी राजस्थान में मौसम सूखा रहा। हरियाणा और पंजाब में भी अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक दर्ज किया गया। दोनों राज्यों में हिसार सबसे गर्म स्थान रहा जहां तापमान 43.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक हरियाणा के हिसार में अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक दर्ज किया गया। नारनौल में भी सामान्य से एक डिग्री अधिक 43.2 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। अंबाला में सामान्य से एक डिग्री अधिक 39 डिग्री सेल्सियस तथा करनाल में 37 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। चंडीगढ़ में अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 39.3 डिग्री दर्ज किया गया। हरियाणा और पंजाब के लिए मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक 19-21 जून के बीच कुछ स्थानों पर आंधी, वज्रपात के साथ 30-40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती है। पंजाब में अगले दो दिनों में कुछ स्थानों पर लू चलने की आशंका है। 

उत्तर प्रदेश में जोर पकड़ रहे मानसून की वजह से राज्य के अनेक पूर्वी हिस्सों में जमकर बारिश हुई। प्रदेश के खासकर पूर्वी हिस्सों में कई स्थानों पर सुबह से ही झमाझम बारिश का सिलसिला शुरू हो गया जो दोपहर बाद तक जारी रहा। इस बारिश की वजह से मौसम सुहावना हो गया और लोगों को पिछले कई दिनों से पड़ रही चिपचिपी गर्मी से राहत मिली। आंचलिक मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में मानसून पूरी तरह सक्रिय है। हालांकि पश्चिमी भागों में इसने अभी रफ्तार नहीं पकड़ी है। राज्य के पूर्वी हिस्सों में कुछ स्थानों पर बुधवार को भारी से बहुत भारी वर्षा भी हुई। इस दौरान बस्ती में सबसे ज्यादा 33 सेंटीमीटर वर्षा रिकॉर्ड की गई। इसके अलावा हरैया में 12, बांसी में 9, तरबगंज तथा सिराथू में आठ-आठ, अयोध्या, अकबरपुर, चंद्रदीप घाट, गोंडा और भिनगा में सात-सात, बहराइच और इलाहाबाद में छह-छह तथा वाराणसी और बीकापुर में पांच-पांच सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई। पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के गोरखपुर, फैजाबाद तथा इलाहाबाद मंडलों में दिन के तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गई। 

वाराणसी, फैजाबाद तथा इलाहाबाद मंडलों में अधिकतम तापमान सामान्य से काफी नीचे रहा इस अवधि में झांसी राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा, जहां अधिकतम तापमान 41.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अगले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में अनेक स्थानों पर जबकि पश्चिमी भागों में कुछ जगहों पर बारिश होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। कुछ स्थानों पर तेज हवा के साथ गरज-चमक की स्थितियां बन सकती हैं। उसके बाद मानसून और जोर पकड़ेगा। आगामी 19 और 20 जून को प्रदेश के कई इलाकों में बारिश हो सकती है। इस बीच, बिहार के कुछ हिस्सों में भी बुधवार को बारिश हुई।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment