Jammu Kashmir News: बडगाम में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, लश्कर के 3 आतंकी घिरे, ऑपरेशन जारी

Jammu Kashmir News: इस मुठभेड़ में लश्कर के 3 आतंकियों के घिरे होने की खबर है। इसमें आतंकी लतीफ राथर के भी घिरे होने की बात सामने आई है। आतंकी लतीफ, राहुल भट और अमरीन भट सहित कई नागरिकों की हत्याओं में शामिल है।

Reported By : Manzoor Mir Edited By : Rituraj Tripathi Updated on: August 10, 2022 10:50 IST
Jammu Kashmir - India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV GFX Jammu Kashmir

Highlights

  • बडगाम में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़
  • बडगाम के वाटरहेल गांव में मुठभेड़
  • बडगाम पुलिस, सेना और सीआरपीएफ संयुक्त रूप से चला रही ऑपरेशन

Jammu Kashmir News: जम्मू कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ लगातार अभियान जारी है लेकिन आतंकी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला बडगाम जिले का है, यहां के वाटरहेल गांव में मुठभेड़ शुरू हो गई है। इस मुठभेड़ में लश्कर के 3 आतंकियों के घिरे होने की खबर है। इसमें आतंकी लतीफ राथर के भी घिरे होने की बात सामने आई है। आतंकी लतीफ, राहुल भट और अमरीन भट सहित कई नागरिकों की हत्याओं में शामिल है। ये जानकारी एडीजीपी कश्मीर ने दी है। बडगाम पुलिस, सेना और सीआरपीएफ संयुक्त रूप से इन आतंकियों के खिलाफ अभियान चला रही है। 

पुलवामा में 25 से 30 किलो IED बरामद

पुलवामा में पुलिस और सुरक्षाबलों द्वारा सर्कुलर रोड पर तहब क्रॉसिंग के पास लगभग 25 से 30 किलोग्राम वजन का IED बरामद किया गया है। इस आईईडी के मिलने से एक बड़ी घटना टल गई है। इस बात की जानकारी भी ADGP कश्मीर विजय कुमार ने दी है। 

कुछ दिन पहले ही पुलवामा में हुआ था आतंकी हमला

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में कुछ दिन पहले ही आतंकियों ने ग्रेनेड हमला किया था। इस हमले में एक प्रवासी मजदूर की मौत हो गई थी, जबकि दो अन्य मजदूर घायल हो गए थे। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने यह जानकारी दी थी। घायल मजदूरों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

ग्रेनेड हमले में मारे गए मजदूर की पहचान मोहम्मद मुमताज के रूप में हुई थी, जो बिहार के सकवा परसा का रहने वाला था। वहीं, घायल दोनों मजदूर की पहचान बिहार के रामपुर निवासी मोहम्मद आरिफ और मोहम्मद मजबूल के रूप में हुई थी। 

कश्मीर जोन की पुलिस ने ट्वीट किया था, "आतंकवादियों ने पुलवामा के गदूरा इलाके में बाहर से आए श्रमिकों पर ग्रेनेड फेंके। इस आतंकी घटना में एक श्रमिक की मौत हो गई, जबकि दो अन्य घायल हो गए।" 

बता दें कि 5 अगस्त 2019 में जूम्मू-कश्मीर से संविधान के अनुच्छे 370 को निरस्त किया गया था। अनुच्छे 370 हटने की वर्षगांठ से ठीक एक दिन पहले ये आतंकी घटना सामने आई। आतंकियों ने यहां काम करने वाले गैर-कश्मीरी मजदूरों पर हमला किया। 

गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में आतंकियों ने गैर-स्थानीय श्रमिकों पर हमले बढ़ा दिए थे, लेकिन इस तरह के टारगेट हमलों में पिछले करीब दो महीने से कमी आई थी। 

 

Latest India News

navratri-2022