Uttarakhand News: बद्रीनाथ हाईवे पर नरकोटा के पास पुल का हिस्सा गिरा, कई लोगों के मलबे में दबे होने की खबर

Uttarakhand News: इस हादसे में करीब आधा दर्जन लोगों के घायल होने की खबर मिली है। एसडीआरएफ और पुलिस की टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही हैं।

Rituraj Tripathi Written By: Rituraj Tripathi
Updated on: July 20, 2022 12:21 IST
Uttarakhand News- India TV Hindi News
Image Source : ANI Uttarakhand News

Highlights

  • बद्रीनाथ हाईवे पर नरकोटा के पास पुल का हिस्सा गिरा
  • रेस्क्यू टीम ने 6 लोगों को मलबे से बाहर निकाला
  • कई लोगों के मलबे में दबे होने की खबर

Uttarakhand News: उत्तराखंड के बद्रीनाथ हाईवे पर नरकोटा के पास निर्माणाधीन पुल का हिस्सा गिरने से कई लोग मलबे के नीचे दब गए हैं। रेस्क्यू टीम ने 6 लोगों को मलबे से बाहर निकाल लिया है, लेकिन 4 से 5 लोगों के मलबे में दबे होने की खबर है। इस हादसे में करीब आधा दर्जन लोगों के घायल होने की खबर मिली है। एसडीआरएफ और पुलिस की टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही हैं। बता दें कि नारकोटा में जिस जगह ये हादसा हुआ है, वह रुद्रप्रयाग से 6 किलोमीटर दूर है। ये जगह ऋषिकेश-बद्रीनाथ हाईवे पर है। ये जानकारी एसडीआरएफ ने दी है। 

घायलों को हॉस्पिटल भेजा गया है और वहां उनका इलाज किया जा रहा है। बता दें कि उत्तराखंड में बारिश के रेड अलर्ट के बीच ये हादसा हुआ है। यहां के हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उत्तराखंड में 8 स्टेट हाईवे समेत कुल 88 रास्ते बंद हैं। बारिश की वजह से ये रास्ते खुल नहीं पाए हैं और बाधित हैं। 

कैसे हुआ हादसा

मिली जानकारी के मुताबिक, ऋषिकेश बद्रीनाथ राजमार्ग 56 पर नरकोटा के पास बन रहे एक बाईपास पुल पर सुबह करीब 9 बजे शटरिंग पलट गई। इसी वजह से हादसा हुआ, जिसमें कई लोग शटरिंग के नीचे दब गए। इसमें से 6 घायलों को रेस्क्यू कर लिया गया और हॉस्पिटल भेज दिया गया। वहीं कई लोग इसमें अभी भी फंसे हुए हैं। जिनको बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। 

8 जुलाई को भी हो चुका है हादसा 

बीती 8 जुलाई को भी उत्तराखंड के रामनगर में एक हादसा हुआ था। इस दौरान एक कार नदी में गिर गई थी, जिसमें 10 लोगों के बहने की खबर थी। इनमें से 9 लोगों के शवों को बरामद कर लिया गया था। 

उत्तराखंड में बारिश की वजह से रेड अलर्ट 

उत्तराखंड के कई जिलों में भारी बारिश का अनुमान जताया गया है। इसकी वजह से रेड अलर्ट घोषित है और कई जगहों पर स्कूलों व कॉलेजों की छुट्टी कर दी गई है। कुमाऊं और गढ़वाल के 9 से 10 जिलों में 20 जुलाई को अत्यधिक बारिश का रेड अलर्ट मौसम विभाग जारी कर चुका है। 23 जुलाई तक प्रदेश में तेज बारिश हो सकती है। 

Latest India News

navratri-2022