ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस ने अपने जीवन को खतरा बताया, ‘जेड प्लस’ सुरक्षा की मांग की

केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस ने अपने जीवन को खतरा बताया, ‘जेड प्लस’ सुरक्षा की मांग की

पारस ने कहा कि उनकी पार्टी के कुछ अन्य नेताओं को भी मोबाइल फोन पर गालियां और धमकियां मिली हैं। उन्होंने इस संबंध में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी पत्र लिखा है। पारस ने कहा कि दिल्ली पुलिस और बिहार पुलिस दोनों को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। 

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: August 26, 2021 22:22 IST
Union Minister Pashupati Kumar Paras seeks ‘Z Plus’ security alleging threat to his life- India TV Hindi
Image Source : PTI पशुपति पारस ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर कहा है कि उन्हें ‘जेड प्लस’ सुरक्षा उपलब्ध कराई जानी चाहिए।

नयी दिल्ली: केंद्रीय मंत्री और लोकजनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के नेता पशुपति कुमार पारस ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर कहा है कि राजनीतिक साजिश की वजह से उनके जीवन को खतरा है तथा उन्हें ‘जेड प्लस’ सुरक्षा उपलब्ध कराई जानी चाहिए। पारस ने बृहस्पतिवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्हें उनके मोबाइल फोन पर गालियां और धमकियां दी गई हैं तथा उन्होंने दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। 

पशुपति कुमार पारस ने किसी का नाम लिए बिना कहा कि केंद्रीय मंत्री बनने के बाद 23 अगस्त को बिहार स्थित हाजीपुर निर्वाचन क्षेत्र के उनके पहले दौरे के दौरान जनता से मिले भारी समर्थन की वजह से उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को झटका लगा है जो राजनीतिक साजिश के तहत हत्या की राजनीति कर रहे हैं। 

पारस ने कहा कि उनके प्रतिद्वंद्वियों द्वारा कथित तौर पर भाड़े पर लिए गए लोगों के एक समूह ने उनके काफिले को काले झंडे दिखाए तथा मोबिल ऑयल भी फेंका। एलजेपी पर नियंत्रण को लेकर केंद्रीय मंत्री की अपने भतीजे चिराग पासवान के साथ राजनीतिक लड़ाई चल रही है। 

पारस ने कहा कि उनकी पार्टी के कुछ अन्य नेताओं को भी मोबाइल फोन पर गालियां और धमकियां मिली हैं। उन्होंने इस संबंध में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी पत्र लिखा है। पारस ने कहा कि दिल्ली पुलिस और बिहार पुलिस दोनों को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। 

ये भी पढ़ें

elections-2022