UP फिर शर्मसार: 15 साल की लड़की से चचेरे भाईयों ने किया था गैंगरेप, पीड़िता की डिलीवरी के दौरान मौत

सोमवार की रात लड़की की तबीयत बिगड़ गई जिसके बाद परिजन उसे मंगलवार सुबह शिवराजपुर सीएचसी ले गए। प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने लड़की को एलएलआर के मैटरनिटी एंड चाइल्ड केयर विंग में रेफर कर दिया, जहां उसने एक मृत बच्चे को जन्म दिया और कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: December 17, 2021 11:35 IST
गैंगरेप पीड़िता की...- India TV Hindi
Image Source : REPRESENTATIONAL IMAGE गैंगरेप पीड़िता की डिलीवरी के दौरान मौत

Highlights

  • आरोपित ने गर्भवती होने पर पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी थी
  • आरोपी सरकारी अधिकारी गिरफ्तार

कानपुर: एक नाबालिग लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एक लेखपाल (राजस्व अधिकारी) को गिरफ्तार किया गया है। पीड़िता की मौत मृत बच्चे को जन्म देने के दौरान हो गई थी। मंगलवार की रात लड़की की मौत हो गई थी। लेखपाल को गिरफ्तार कर लिया गया है और बाद में गुरुवार को निलंबित कर दिया गया था। अक्टूबर में, लेखपाल रंजीत बरवार, करण और दो अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ 15 वर्षीय लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म के लिए आईपीसी और पॉक्सो अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। आरोपित ने गर्भवती होने पर पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी थी। पुलिस ने आरोपी लेखपाल के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की थी।

सोमवार की रात लड़की की तबीयत बिगड़ गई जिसके बाद परिजन उसे मंगलवार सुबह शिवराजपुर सीएचसी ले गए। प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने लड़की को एलएलआर के मैटरनिटी एंड चाइल्ड केयर विंग में रेफर कर दिया, जहां उसने एक मृत बच्चे को जन्म दिया और कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। गुरुवार को एसडीएम गुलाब चंद्र अग्रहरी ने आरोपी लेखपाल को निलंबित कर दिया था, साथ ही कहा कि पुलिस से उसकी गिरफ्तारी की सूचना मिलने के बाद कार्रवाई की गई है।

इस मामले में पिता का कहना है कि उन्हें 10 अक्टूबर को पता चला कि बेटी गर्भवती है। वहीं पीड़िता की मौत के बाद पुलिस ने उसके पिता से भी पूछताछ की और उन्होंने पुलिस को बताया कि उन्हें घटना की जानकारी पहले से नहीं थी और उन्हें पहली बार 10 अक्टूबर को इस बारे में पता चला। वह यह नहीं जानते हैं कि नाबालिग लेखपाल के संपर्क में कैसे आई। पिता ने पुलिस को बताया कि करण और दो अन्य आरोपी रिश्तेदारी में आते हैं और उसका घर आना जाना था। रिश्तेदारी में होने के कारण कभी नहीं सोचा था कि वह ऐसा कर सकते हैं। उन्होंने पुलिस पर आरोप लगाया कि अगर सही समय पर कार्रवाई की गई होती तो बेटी की मौत नहीं होती।

Latest Uttar Pradesh News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन