1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. जॉब्‍स-एजुकेशन
  4. न्‍यूज
  5. DULS 2020: डीयू में वर्चुअल लीडरशिप समिट शुरू, कई केंद्रीय मंत्री करेंगे संबोधित

DULS 2020: डीयू में वर्चुअल लीडरशिप समिट शुरू, कई केंद्रीय मंत्री करेंगे संबोधित

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ द्वारा आयोजित 3 दिवसीय वर्चुअल डीयू लीडरशिप समिट (DULS 2020) आज (28 जून) से शुरू हो चुका है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: June 28, 2020 17:03 IST
DELHI UNIVERSITY LEADERSHIP SUMMIT 2020, DUSL, DU- India TV Hindi
Image Source : EVENTBRITE DELHI UNIVERSITY LEADERSHIP SUMMIT 2020

DELHI UNIVERSITY LEADERSHIP SUMMIT 2020: दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ द्वारा आयोजित 3 दिवसीय वर्चुअल डीयू लीडरशिप समिट (DULS 2020) आज (28 जून) से शुरू हो चुका है। यह दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) या किसी भी शैक्षणिक संस्थान में इतने बड़े स्तर पर आयोजित होने वाला पहला वर्चुअल सम्मेलन है। वर्चुअल डीयू लीडरशिप समिट का शुभारंभ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने किया। भारतीय मूल के अमेरिकी लेखक और इनफिनिटी फाउंडेशन के फाउंडर राजीव मल्होत्रा को आप आज (28 जून) शाम 7 बजे उनके फेसबुक पेज के माध्यम से भी सुन सकेंगे। 

28, 29 और 30 जून को आयोजित हो रही इस वर्चुअल लीडरशिप समिट 2020 में भाग लेने के लिए लगभग 15 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं ने पंजीकरण कराया है। लगभग 10,000 छात्र हर दिन के सत्र में हिस्सा लेंगे।  

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख सुनील आंबेकर ने रविवार को समिट का शुभारंभ करते हुए कहा कि मौजूदा समय में बदली हुई परिस्थितियों के अनुसार छात्रों को नए तरीकों को अपनाकर आगे बढ़ना होगा। हमारे सामने कई बड़ी चुनौतियां हैं लेकिन छात्रों की शक्ति और साहस के दम पर उन चुनौतियों को पार किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि भारत एक बड़ी युवा आबादी वाला देश है और सभी जिम्मेदारों को यह सुनिश्चित करना होगा कि इस युवा आबादी से निकलने वाला जनसांख्यिकीय लाभांश देश तथा विश्व को समृद्धि की नई ऊंचाइयों पर ले जा सके। आज प्रत्येक क्षेत्र में छात्रों, युवाओं का नेतृत्व विकसित करने तथा युवाओं को उचित प्लेटफार्म उपलब्ध कराने की जरूरत है।

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ के मुताबिक, किसी भी शैक्षिक संस्थान की तरफ से इतने बड़े पैमाने पर होने वाला यह पहला वर्चुअल सम्मेलन है। इस सम्मेलन के लिए 15 हजार छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। फिलहाल दस हजार छात्र सभी सत्रों में हिस्सा ले रहे हैं। इस सम्मेलन में 29 जून को इंफोसिस संस्थापक नारायणमूर्ति, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, पहलवान योगेश्वर दत्त और 30 जून को पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु और सुब्रमण्यम स्वामी विद्यार्थियों को संबोधित करेंगे।

वर्चुअल समिट में छात्रों की वर्तमान परिस्थिति में भूमिका, साहित्य, खेल, दिव्यांगों के सामने वर्तमान समय की चुनौतियां तथा आगे का रास्ता, महिलाओं की वैश्विक बदलाव में बड़ी भूमिका, अर्थव्यवस्था आदि विषयों पर छात्रों को वक्ता संबोधित करेंगे।

डूसू अध्यक्ष अक्षित दहिया, डूसू उपाध्यक्ष प्रदीप तंवर और डूसू सह सचिव शिवांगी खरवाल ने कहा कि इस वर्चुअल समिट के माध्यम से हम वर्तमान उपलब्ध संसाधनों के माध्यम से छात्रों के सामने विभिन्न विषयों पर विचार विमर्श करके एक बेहतर निष्कर्ष की तरफ आगे बढ़ेंगे। यह अपने आप में पहली तरह की वर्चुअल लीडरशिप समिट है और छात्रों ने इस लीडरशिप समिट में भाग लेने के लिए बड़ा उत्साह दिखाया है।

इस सम्मेलन में छात्रों की वर्तमान परिस्थिति में भूमिका, साहित्य, खेल, दिव्यांगों के सामने वर्तमान समय की चुनौतियां तथा आगे का रास्ता, महिलाओं की वैश्विक बदलाव में बड़ी भूमिका, अर्थव्यवस्था आदि विषयों पर छात्रों को वक्ता वर्चुअल माध्यम से संबोधित करेंगे साथ ही छात्र भी वक्ताओं से सवाल जवाब पूछ सकेंगे।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। News News in Hindi के लिए क्लिक करें जॉब्‍स-एजुकेशन सेक्‍शन
Write a comment
X