1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. 20 साल बाद सावन सोमवार पर पड़ रही है सोमवती अमावस्या, साथ ही 5 ग्रह होंगे अपनी राशि पर

20 साल बाद सावन सोमवार पर पड़ रही है सोमवती अमावस्या, साथ ही 5 ग्रह होंगे अपनी राशि पर

श्रावण कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को हरियाली अमावस्या मनाई जाएगी। इस बार यह अमावस्या 20 जुलाई को पड़ रही है

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: July 11, 2020 21:30 IST
हरियाली अमावस्या, सोमवती अमावस्या- India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM/MEMORIESMAHARAS हरियाली अमावस्या

श्रावण कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को हरियाली अमावस्या मनाई जाएगी। इस बार यह अमावस्या 20 जुलाई को पड़ रही है। इसी दिन सावन का तीसरा सोमवार पड़ रहा है इस दिन सोमवार होने के वजह से सोमवती अमावस्या मनाई जाएगी। कई सालों बाद हरियाली अमावस्या को विशेष संयोग लग रहा है।

श्रावण अमावस्या का मुहूर्त

अमावस्या प्रारंभ- 20 जुलाई  सुबह 11:42 से

अमावस्या समाप्त-   20 जुलाई  को  रात 11 बजकर 4 मिनट 1 सेकंड तक।

सावन माह में दो पड़ रहे हैं शनि प्रदोष व्रत, भगवान शिव दिलाएंगे शनि संबंधी दोषों से छुटकारा

बन रहा है विशेष संयोग

ज्योतिषों के अनुसार हरियाली अमावस्या में 5 ग्रह चंद्र, बुध, गुरु, शुक्र और शनि अपनी-अपनी राशियों में रहेंगे। इसके साथ ही इस दिन सर्वार्थसिद्धि योग, पुनर्वसु नक्षत्र, श्रावण सोमवार, सोमवती अमावस्या और स्नानदान श्रावण अमावस्या का संयोग बन रहा है। जिसमें  स्नान-दान करने का विशेष महत्व मिलेगा। इसके साथ ही श्राद्ध-तर्पण करने से पितर तृप्त हो जाएंगे।  इस दिन भगवान शंकर और माता पार्वती सहित अन्य देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करने हर तरह की मनोकामना का पूर्ति होती है।

मूर्ख व्यक्ति इस अनमोल चीज का मोल कभी नहीं समझ पाता, फंस गए इसमें तो हो जाएगा बंटाधार

20 साल बाद एक ही दिन सोमवती और हरियाली अमावस्या

कई सालों बाद ऐसा हो रहा है जब हरियाली अमावस्या और सोमवती अमावस्या एक ही दिन पड़ रहे है। इसके साथ ही सोमवार के दिन अमावस्या भी 16 साल बाद पड़ रही है। ऐसा संयोग साल 2004 में सावन माह के पुरुषोत्तम मास में पड़ा था। इस साल दो बार सावन महीना पड़ा था। जिसेक दूसरे सावन माह में सोमवती अमावस्या का संयोग बना था। इससे पहले साल 2000 भी ऐसा  संयोग बन चुका है।

इस दिन पौधा लगाना माना जाता है शुभ

सावन महीने की अमावस्या को हरियाली अमावस्या के नाम से जाना जाता है और कई जगहों पर इसे चितलगी अमावस्या भी कहते हैं।  शास्त्रों में कहा गया है कि इस अमावस्या पर हर किसी को एक न एक पेड़ ज़रूर लगाना चाहिए वहीं किसी कारणवश अगर अमावस्या पर आप वृक्ष ना भी लगा पाएं तो आने वाले आठ दिन तक कभी भी पौधा रोपा जा सकता है।

ये भी पढ़ें

भगवान शिव को प्रसन्न करने के 5 बेहद सरल उपाय, पूरी होगी हर मनोकामना

सावन में दूध के साथ साथ शिव को अर्पित करें इस खास चीज का रस, छप्पर फाड़ कर बरसेगा धन!

सावन 2020: महामृत्युंजय मंत्र का जाप करते समय नहीं करनी चाहिए ये गलतियां

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment