1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. IPO के जरिये मोटी कमाई का मौका मिलेगा अब सभी को, Sebi कर रहा है लॉट की न्यूनतम रकम घटाने पर विचार

IPO के जरिये मोटी कमाई का मौका मिलेगा अब सभी को, Sebi कर रहा है लॉट की न्यूनतम रकम घटाने पर विचार

सेबी न्यूनतम आवेदन आकार को 15,000 रुपये से घटाकर 7500 से 8000 रुपये करने पर विचार कर रहा है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 28, 2021 12:25 IST
Sebi in talks to cut down minimum application size to help retail investors- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Sebi in talks to cut down minimum application size to help retail investors

नई दिल्ली। छोटे निवेशकों के लिए आईपीओ (IPO) में निवेश करना आने वाले दिनों में आसान हो सकता है, क्‍योंकि भारत का पूंजी और कमोडिटी बाजार विनियामक सेबी (Sebi) आईपीओ में निवेश के लिए तय लॉट के आकार को कम करने पर विचार कर रहा है। जानकारी के अनुसार, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) इनिशियल पब्लिक ऑफर यानी आईपीओ में निवेश की मौजूदा न्यूनतम रकम 15,000 रुपये से घटाकर 7,500 रुपये करने के संबंध में विचार कर रहा है।

जानकार बताते हैं कि अगर ऐसा होता है तो छोटे निवेशक या जिनकी आय कम है वो भी आईपीओ में निवेश करने के बारे में सोच पाएंगे। वर्तमान में आईपीओ में एक लॉट में निवेश की न्यूनतम रकम 15,000 रुपये तय है। जानकार बताते हैं कि कई रिटेल इन्वेस्टर्स एसोसिएशन ने बाजार विनियामक को आईपीओ के लॉट साइज की रकम में कटौती करने का सुझाव दिया है।

एक अन्‍य सूत्र ने बताया कि सेबी न्‍यूनतम आवेदन आकार को 15,000 रुपये से घटाकर 7500 से 8000 रुपये करने पर विचार कर रहा है। यदि आईपीओ के लिए लॉट साइज को कम किया जाता है तो सब्‍सक्रिप्‍शन नंबर बढ़ेगा जो रिटेल निवेशकों के लिए मददगार होगा। पिछले साल कुछ सफल आईपीओ में रिटेल निवेशकों के आवेदन की बड़ी संख्‍या देखने को मिली है।

पिछले साल ऐसे कई IPO कामयाब रहे जिनमें छोटे निवेशकों ने बड़ी संख्या में पैसा लगाया था। Happiest Minds Technologies का IPO पिछले साल सबसे कामयाब इश्यू में शामिल रहा। यह 150 गुना सब्सक्राइब हुआ था। इसमें रिटेल इनवेस्टर्स का पोर्शन 70.94 गुना सब्सक्राइब हुआ था। वहीं इस साल बेक्टर्स फूड का IPO 68 गुना सब्सक्राइब हुआ था। वहीं Mazagon Dock में रिटेल इनवेस्टर्स का सब्सक्रिप्शन 36  गुना और IRCTC में 15 गुना हुआ था। ये सभी IPO प्रीमियम पर खुले थे लेकिन रिटेल निवेशकों को बहुत कम शेयर मिल पाएं।

एक बाजार विशेषज्ञ ने बताया कि सेबी के पास आईपीओ सेगमेंट में रिटेल निवेशकों के लिए करने के लिए ज्‍यादा कुछ नहीं है। नियामक ने पहले ही फायदे वाली कंपनियों के लिए आईपीओ के कुल आकार में में रिटेल निवेशकों के लिए 35 प्रतिशत आरक्षण और नुकसान वाली कंपनियों के आईपीओ के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण दे रखा है।  

यह भी पढ़ें: यदि पाकिस्‍तान ने किया coronavirus vaccines देने का अनुरोध?, इस पर भारत के विदेश मंत्रालय ने दिया ये जवाब

यह भी पढ़े: महंगे पेट्रोल-डीजल से राहत के लिए सरकार ने की बड़ी घोषणा...

यह भी पढ़े: भारत में अपना कारोबार बंद करने वाली Tiktok ने कमबैक के लिए बताई अपनी योजना....

यह भी पढ़ें: TCS बना दुनिया का तीसरा सबसे मूल्यवान IT ब्रांड, IBM से बस कुछ कदम है पीछे

यह भी पढ़ें: व्‍हीकल स्‍क्रैप पॉलिसी को मिली मंजूरी, जानिए कब से और किन वाहनों के लिए होगी लागू

Write a comment
Click Mania
bigg boss 15