1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विषय

standard deduction

Standard Deduction on Pension

पेंशनभोगियों को भी मिलेगा स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन का लाभ, CBDT ने दिया स्‍पष्‍टीकरण

टैक्स | Apr 05, 2018, 02:59 PM IST

बजट 2018 में घोषित 40,000 रुपए के स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन पर केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने स्‍पष्‍टीकरण जारी किया है। CBDT ने स्‍पष्‍ट किया है कि किसी व्‍यक्ति को अपने पूर्व नियोक्‍ता से प्राप्‍त होने वाली पेंशन को सैलरी की श्रेणी में रखा जाएगा।

Changes in Income Tax Rules from April 1

1 अप्रैल से Income Tax के नियमों में होंगे ये बड़े बदलाव, कहीं होगा आपका फायदा तो कहीं कटेगी जेब

मेरा पैसा | Mar 28, 2018, 03:05 PM IST

Income Tax के नियमों में 1 अप्रैल यानी नए वित्‍त से बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। इनकी घोषणा वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने 2018 के आम बजट में की थी। जानिए, नए नियमों से आपको कहां होगा फायदा और कहां होगा नुकसान।

standard deduction

बजट में करदाताओं को दी गई मानक कटौती है एक छलावा, संसद की स्‍थायी समिति ने कही ये बात

बिज़नेस | Mar 10, 2018, 03:06 PM IST

संसद की वित्त संबंधी स्थायी समिति ने बजट में नौरकरीपेशा करदाताओं के लिए घोषित 40,000 रुपए की मानक कटौती को छलावा बताते हुए कहा है कि यह कटौती पूरी और बिना किसी शर्त के होनी चाहिए।

Income Tax

1 अप्रैल से बदल रहे हैं इनकम टैक्‍स से जुड़े ये नियम, जानिए कहां होगा फायदा और कहां कटेगी जेब

टैक्स | Feb 14, 2018, 11:45 AM IST

वित्‍त मंत्री अरुण जेटली आम बजट में जो घोषणाएं की वे 1 अप्रैल से लागू हो जाएंगी। इनमें से कुछ आपको लाभ पहुंचाएंगे तो कुछ से आपकी जेब भी कटेगी।

Standard Deduction

Budget 2018 : बिना रसीद जमा किए मिलेगा 40,000 रुपए की कटौती का लाभ, आम बजट में किया गया ये प्रस्‍ताव

Feb 02, 2018, 03:56 PM IST

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2018-19 के बजट में व्यक्तिगत आय कर की दरों और स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया। हालांकि, उन्होंने नौकरी पेशा और पेंशनभोगियों को 40,000 रुपए के स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन देने की जरूर घोषणा की है।

Budget 2018 Arun Jaitley

Budget 2018 में आम आदमी पर कम हो सकता है कर बोझ, कृषि और बुनियादी ढांचा क्षेत्र पर होगा जोर

Jan 28, 2018, 02:36 PM IST

आर्थिक विशेषज्ञों का अनुमान है कि आगामी बजट में कर मुक्त आय की सीमा ढाई से बढ़ाकर तीन लाख रुपए की जा सकती है। कुछ विश्लषकों का मानना है कि सरकार वेतन भोगियों को कुछ राहत देने के लिए फिर स्टैंडर्ड डिडक्शन शुरू कर सकती है।