Saturday, June 15, 2024
Advertisement

तुर्की में Indian Army ने "ऑपरेशन दोस्त" के तहत शुरू किया 24x7"फील्ड अस्पताल", बचेंगी कई जिंदगियां

तुर्की और सीरिया में आए विनाशकारी भूकंप में भारत तुर्की का सबसे बड़ा मददगार साबित हुआ है। सेना के कई विमान और भारी मात्रा में दवाएं, राहत सामग्री व चिकित्सक और राहत दल पहले दिन से ही तुर्की में मानवता की मदद कर रहे हैं।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: February 10, 2023 6:22 IST
तुर्की के फील्ड अस्पताल में घायलों का इलाज करती भारतीय सेना (फाइल)- India TV Hindi
Image Source : FILE तुर्की के फील्ड अस्पताल में घायलों का इलाज करती भारतीय सेना (फाइल)

नई दिल्ली। तुर्की और सीरिया में आए विनाशकारी भूकंप में भारत तुर्की का सबसे बड़ा मददगार साबित हुआ है। सेना के कई विमान और भारी मात्रा में दवाएं, राहत सामग्री व चिकित्सक और राहत दल पहले दिन से ही तुर्की में मानवता की मदद कर रहे हैं। इसके साथ ही भारतीय सेना ने भूकंप में घायलों की जान बचाने के लिए आपरेशन दोस्त के तहत फील्ड अस्पताल की शुरुआत कर दी है। इसमें आपातकालीन चिकित्सा और ऑपरेशन दोनों की 24 घंटे सुविधाएं हैं। सेना ने बताया कि अस्पताल ने काम करना भी शुरू कर दिया है। इसमें सर्जरी और आपातकालीन वार्ड हैं। 

आपको बता दें कि तुर्की और सीरिया में सोमवार को 7.8 तीव्रता का शक्तिकाली भूकंप आया था, जिसमें अब तक 19,000 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की पुष्टि की जा चुकी है। भारत ने तुर्की और सीरिया दोनों देशों की मदद के लिए ‘ऑपरेशन दोस्त’ शुरू किया है। भारत सरकार ने मंगलवार को चार सैन्य विमानों से तुर्किये को राहत सामग्री, मोबाइल अस्पताल, खोज एवं बचाव दल भेजे हैं। इसके बाद बुधवार को भी राहत सामग्री भेजी गई। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बृहस्पतिवार को ट्विटर पर तुर्किये में भारत की ओर से किए गए राहत कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सेना ने तुर्किये में हेते प्रांत के इस्केनदेरुन में फील्ड अस्पताल स्थापित किया है जिसने काम करना शुरू कर दिया है। 

भारतीय सेना के अस्पताल में 24 घंटे इलाज, एक्सरे और सर्जरी की सुविधा 

भारतीय सेना के इस फील्ड अस्पताल में चिकित्सा, सर्जरी, आपातकालीन वार्ड के साथ-साथ एक्स रे लैब और मेडिकल स्टोर हैं। उन्होंने कहा कि ‘ऑपरेशन दोस्त’ के तहत सेना की टीम 24x7 काम कर प्रभावित लोगों को राहत मुहैया करा रही है। जयशंकर ने पहले भारत के राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के दलों द्वारा तुर्किये के गंजीयातेप में खोज अभियान शुरू करने की तस्वीरें साझा की थीं। विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत ने वायुसेना के पांच सी-17 विमानों से 250 से ज्यादा कर्मियों, विशेष उपकरण और अन्य सामग्री तुर्किये भेजी है जिसका कुल वजन 135 टन से ज्यादा है। भातरीय सेना ने बृहस्पतिवार को ट्विटर पर एक तस्वीर साझा की जिसमें एक महिला फील्ड अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात सेना के एक कर्मी को गले लगा रही है। इस बीच, भारत में सीरियाई दूतावास ने एक अपील जारी कर मदद मांगी है। भारत ने मंगलवार को सीरिया के लिए भी राहत सामग्री भेजी है।

यह भी पढ़ें...

ये होता है पिता...मलबे के नीचे दबकर खुद की गई जान, लेकिन सीने में छुपाए बच्चे की बचा ली जिंदगी

तुर्की में प्रकृति के कहर के बाद दिखा कुदरत का करिश्मा, भूकंप के 3 दिन बाद मलबे से जिंदा निकली 2 माह की बच्ची

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement