1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. जापान में स्कूली छात्राओं पर चाकू से हमला, दो की मौत, 17 घायल

जापान में स्कूली छात्राओं पर चाकू से हमला, दो की मौत, 17 घायल

घायलों में ज्यादातर स्कूली लड़कियां थी जो कावासाकी शहर के नोबोरितो पार्क में बस स्टॉप के बाहर कतार में खड़ी थीं जब 50 के आस-पास की उम्र का एक शख्स चाकू से उन पर हमला करने लगा। पुलिस ने बताया कि हमले में 11 वर्षीय स्कूली छात्रा हनाको कुरीबायाशी और 39 वर्षीय सरकारी अधिकारी सतोशी ओयामा की मौत हो गई।

Bhasha Bhasha
Updated on: May 28, 2019 19:49 IST
japan stabbing- India TV Hindi
Image Source : PTI जापान में स्कूली छात्राओं, लोगों पर चाकू से हमला

कावासाकी। जापान से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां कावासाकी में एक बस स्टॉप के करीब चाकू लिए एक शख्स ने स्कूली छात्राओं एवं वयस्कों को मंगलवार को निशाना बनाया। अधिकारियों ने बताया कि इस हमले में एक स्कूली छात्रा समेत दो लोगों की मौत हो गई और 17 लोग घायल हो गए। हमलावर ने बाद में खुद की भी जान ले ली। 

हमले के दौरान यह व्यक्ति “मैं तुम्हें मार दूंगा” चिल्ला रहा था।

घायलों में ज्यादातर स्कूली लड़कियां थी जो कावासाकी शहर के नोबोरितो पार्क में बस स्टॉप के बाहर कतार में खड़ी थीं जब 50 के आस-पास की उम्र का एक शख्स चाकू से उन पर हमला करने लगा। पुलिस ने बताया कि हमले में 11 वर्षीय स्कूली छात्रा हनाको कुरीबायाशी और 39 वर्षीय सरकारी अधिकारी सतोशी ओयामा की मौत हो गई। अधिकारियों के अनुसार, 17 अन्य लोग घायल हो गए जिनमें ज्यादातर बच्चे हैं।

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने टेलीविजन पर दिए बयान में कहा, ‘‘यह बहुत ही संगीन मामला है। मैं काफी गुस्से में हूं। मैं पीड़ितों के प्रति हार्दिक संवेदनाएं व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’’

शहर के अधिकारियों ने पुलिस के हवाले से बताया कि संदिग्ध को पकड़ लिया गया था लेकिन उसने अपना गला काट लिया जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस हमलावर के बारे में ज्यादा विस्तार से तत्काल नहीं बता सकी। कनावागा की प्रांतीय पुलिस ने केवल छठी कक्षा में पढ़ने वाली 11 वर्षीय हनाको कुरिबयाशी की मौत की पुष्टि की है जो टोक्यो की रहने वाली थी।

वहीं सेंट मरियाना यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के चिकित्सकों ने कहा कि करीब 50 साल के एक व्यक्ति को घटनास्थल से अस्पताल लाया गया जिसके गले पर कटे का निशान था। शहर के अधिकारियों एवं मीडिया ने कहा कि यही व्यक्ति संदिग्ध था।

शहर एवं अस्पताल के अधिकारियों के मुताबिक दो वयस्कों को छोड़ कर बाकी सब प्राथमिक स्कूल के बच्चे थे और उनकी उम्र छह से 12 साल के बीच मानी जा रही है। एक प्रत्यक्षदर्शी ने मेनिची समाचारपत्र को बताया कि उसने बस के पास से गुजरने के दौरान बच्चों की चीख-पुकार सुनी। उसने कहा कि जब वह पीछे मुड़ा तो उसने एक व्यक्ति को दोनों हाथों में चाकू लहराते हुए और “मैं तुम्हें मार दूंगा” चिल्लाते हुए सुना तथा कई बच्चों को जमीन पर पड़े देखा।

टेलीवीजन फुटेज में आपात कर्मियों को सड़क पर लगाए एक तंबू के भीतर लोगों को प्राथमिक उपचार देते देखा गया और पुलिस एवं अन्य अधिकारी घायलों को एंबुलेंस तक पहुंचाते दिखे। 

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X