1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. पाकिस्तान: मुशर्रफ के लिए मुश्किल, सोमवार से फिर शुरू होगा देशद्रोह का मुकदमा

पाकिस्तान: मुशर्रफ के लिए मुश्किल, सोमवार से फिर शुरू होगा देशद्रोह का मुकदमा

पाकिस्तान में एक विशेष अदालत पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ के खिलाफ सोमवार से फिर देशद्रोह के मुकदमे की सुनवाई करेगी।

Bhasha Bhasha
Published on: July 29, 2018 17:28 IST
Pakistan: Islamabad court to resume hearing in high treason trial against Pervez Musharraf next week- India TV Hindi
Pakistan: Islamabad court to resume hearing in high treason trial against Pervez Musharraf next week | AP File

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में एक विशेष अदालत पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ के खिलाफ सोमवार से फिर देशद्रोह के मुकदमे की सुनवाई करेगी। मीडिया में आई एक खबर में कहा गया है कि यह इमरान खान की तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के लिए भी बड़ी परीक्षा होगी जिसे जल्द ही सरकार बनाने की उम्मीद है। लाहौर हाई कोर्ट (LHC) के चीफ जस्टिस यावर अली 3 जजों वाले स्पेशल ट्रिब्यूनल की अध्यक्षता कर रहे हैं। वह 31 जुलाई से 2 अगस्त के बीच 3 दिनों के लिए इस्लामाबाद का दौरा करेंगे।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने कहा कि उनके इस दौरे का उद्देश्य पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ दर्ज देशद्रोह के मामले की सुनवाई करना है। यह मामला 2013 में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के सत्ता में आने के फौरन बाद दर्ज किया गया था। उन पर 3 नवंबर 2007 को आपातकाल लगाने में उनकी कथित भूमिका के लिये मामला दर्ज किया गया था। अभियोजन पक्ष को हालांकि अब भी मामले के मुकर्रर होने को लेकर कोई जानकारी नहीं है। इस मामले को इस महीने के शुरू में भी सूचीबद्ध किया गया था लेकिन LHC के सर्वोच्च न्यायाधीश के विदेश दौरे की वजह से इसे रद्द किया गया था।

अखबार ने कहा, ‘हम यह भी सुन रहे हैं कि मामले को अगले हफ्ते के लिए तय किया गया है इस गतिविधि के बारे में मुशर्रफ की विधिक टीम के एक सदस्य को भी इसकी जानकारी दी गई है।’ अब यह देखना होगा कि आने वाली इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार देशद्रोह का मुकदमा या PML-N सरकार द्वारा नियुक्त अभियोजक अकरम शेख को कायम रखती है या नहीं। अखबार ने कहा कि PML-N के करीबी माने जाने वाले शेख, हो सकता है खुद को इस मामले से अलग कर लें।

विधि विशेषज्ञों का मानना है कि राजद्रोह का मामला नई सरकार के लिये परीक्षा की तरह होगा क्योंकि नागरिक और सैन्य खींचतान की एक वजह यह थी कि PML-N सरकार ने एक पूर्व सैन्य प्रमुख के खिलाफ मुकदमे की कार्रवाई की थी। नवंबर 2007 में इमरान खान ने कहा था कि उनकी पार्टी मुशर्रफ के इस असंवैधानिक कदम के खिलाफ कार्रवाई करेगी। हालांकि हाल में उनकी पार्टी इस मुद्दे पर खामोश ही रही है।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X