1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. अगर बच्चे पैदा नहीं किए तो खत्म हो जाएगा इस देश का अस्तित्व, एलन मस्क का Tweet

Elon Musk's Tweet: अगर बच्चे पैदा नहीं किए तो खत्म हो जाएगा इस देश का अस्तित्व, एलन मस्क का Tweet

जापान की जनसंख्या 2008 में पीक पर थी लेकिन उसके बाद इसमें गिरावट देखी गई है जिसका वजह है कम जन्म दर। वहीं, मस्क के जापान को लेकर किए गए ट्वीट पर सोशल मीडिया पर रिएक्शंस की बाढ़ आ गई और इस पर राय रखने वालों में बड़ी संख्या जापान सरकार पर निशाना साधने वालों की रही।

Khushbu Rawal Edited by: Khushbu Rawal @khushburawal2
Updated on: May 10, 2022 16:16 IST
Elon Musk- India TV Hindi
Image Source : PTI Elon Musk

Highlights

  • जापान का अस्तित्व आखिरकार खत्म हो जाएगा: मस्क
  • मस्क ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया पर आई रिएक्शंस की बाढ़

Elon Musk's Tweet: हाल ही में ट्विटर को अरबों डॉलर में खरीदने वाले दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति और टेस्ला के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) एलन मस्क ने कहा कि जापान उच्च जन्मदर के बिना “आखिरकार (अपने) अस्तित्व को समाप्त कर देगा।” मस्क के इस ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया पर रिएक्शंस की बाढ़ आ गई और इस पर राय रखने वालों में बड़ी संख्या जापान सरकार पर निशाना साधने वालों की रही।

एलन मस्क ने ट्वीट किया, "स्पष्ट रूप से बताने के जोखिम के साथ, जब तक कि जन्म दर को मृत्यु दर से अधिक करने के लिए कुछ परिवर्तन न हो, जापान अंततः अपना अस्तित्व खो देगा। यह एक दुनिया के लिए महान नुकसान होगा।"

Elon Musk Tweet

Image Source : TWITTER
Elon Musk Tweet

दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है जापान

जापान की जनसंख्या 2008 में पीक पर थी लेकिन उसके बाद इसमें गिरावट देखी गई है जिसका वजह है कम जन्म दर। लेकिन आपको बता दें कि जापान दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना हुआ है, जो कार निर्माताओं से लेकर गेम डेवलपर्स तक के वैश्विक दिग्गजों की मेजबानी करता है और वैश्विक अर्धचालक आपूर्ति श्रृंखलाओं में एक महत्वपूर्ण कड़ी है।

मस्क के ट्वीट पर रिएक्शंस-
एलन मस्क के ट्वीट पर कई जापानी टिप्पणीकारों ने कहा कि स्थिति आश्चर्यजनक नहीं है। उन्होंने समस्या को दूर करने के लिए जरूरी कदम जैसे कि अधिक डेकेयर केंद्र बनाना और महिलाओं के लिए बच्चे पैदा करने के बाद काम पर वापसी आसान बनाना, न उठाने के लिए जापानी सरकार की आलोचना की।