Wednesday, July 10, 2024
Advertisement

अदालत के इस फैसले ने और साफ कर दिया पूर्व पीएम नवाज शरीफ की पाकिस्तान वापसी का रास्ता, अब होगा नया रण

पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ का कार्यकाल अगस्त में पूरा हो रहा है। इससे पहले उनके बड़े भाई और पूर्व पीएम शहबाज शरीफ की स्वदेश वापसी का रास्ता अदालत के एक फैसले ने और साफ कर दिया। कोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में नवाज को बरी कर दिया है। साथ ही कहा कि उनका पाक में राजनीतिक उत्पीड़न किया गया।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: July 07, 2023 11:28 IST
नवाज शरीफ, पाकिस्तान के पूर्व पीएम - India TV Hindi
Image Source : FILE नवाज शरीफ, पाकिस्तान के पूर्व पीएम

पाकिस्तान की राजनीति में एक बार फिर से पूर्व पीएम नवाज शरीफ की एंट्री तय मानी जा रही है। वैसे लंबे समय से नवाज की वापसी के कयास लगाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि नवाज शरीफ अब पाकिस्तान से सिर्फ ढाई घंटे की दूरी पर हैं और वह कभी भी देश में दाखिल हो सकते हैं। हाल ही में नवाज शरीफ की पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के साथ मीटिंग भी हुई थी। पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ भी कई बार अपने भाई नवाज शरीफ की वापसी की अपील कर चुके हैं।

पाकिस्तान की एक भ्रष्टाचार -निरोधक अदालत ने फैसला सुनाया है कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को 1986 के भ्रष्टाचार के एक मामले में राजनीतिक रूप से प्रताड़ित किया गया। उनकी पार्टी ने बृहस्पतिवार को इस फैसले को उनकी बेगुनाही पर अदालती मुहर बताया। लाहौर की जवाबदेही अदालत ने बृहस्पतिवार को विस्तृत आदेश जारी कर सत्तारूढ़ पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग -नवाज (पीएमएल-एन) के सुप्रीमो नवाज शरीफ को भूखंडों के कथित अवैध आवंटन के 37 साल पुराने मामले में बरी कर दिया। यह मामला पंजाब प्रांत से जुड़ा है। पिछले महीने इसी जवाबदेही अदालत ने 73 वर्षीय नवाज शरीफ को इस मामले में बरी कर दिया था।

नवाज शरीफ पर इस मामले में दर्ज हुआ था भ्रष्टाचार का मुकदमा

नवाज शरीफ पर लाहौर में ‘बेशकीमती सरकारी जमीन’ रिश्वत के तौर पर देश के जाने-माने एक मीडिया उद्योगपति को दे देने का आरोप लगाया गया था। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने आरोप लगाया था कि जंग ग्रुप के मालिक मीर शकील-उर-रहमान ने पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री नवाज शरीफ के साथ मिलीभगत कर 54 भूखंडों की अवैध छूट हासिल कर ली थी। यह मामला 2020 में दर्ज किया गया था जब पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ सत्ता में थी और तत्कालीन प्रधानमंत्री इमरान खान कथित रूप से विपक्षी दलों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाकर उन्हें कमजोर करने की कोशिश कर रहे थे।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग -नवाज ने अदालत के फैसले को नवाज की बेगुनाही तथा राजनीतिक उत्पीड़न का सबूत बताया। पार्टी प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ फैसला दर्शाता है कि उन्हें उनके विरोधियों ने प्रताड़ित किया तथा उनके विरूद्ध सभी मामले फर्जी आरोपों पर आधारित हैं।’(भाषा)

यह भी पढ़ें

फ्रांस के बैस्टिल डे परेड में पूरी दुनिया देखेगी हिंदुस्तान की नई ताकत, वायुसेना दल को लीड करेंगी भारत की नारी

टाइटैनिक जहाज का मलबा ढूंढ़ने में डूबी थी "टाइटन पनडुब्बी", अब संचालक ओशनगेट कंपनी ने किया बड़ा ऐलान

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement