ब्रिटेन में अचानक फेल हुआ हवाई नेटवर्क, सभी एयरपोर्टों पर मच गई अफरातफरी; हजारों यात्री विमान में ही फंसे

ब्रिटेन में उस वक्त सभी हवाई अड्डों पर उड़ानों पर ब्रेक लग गया, जब अचानक एयर नेटवर्क फेल हो गया। इससे हजारों यात्री विभिन्न हवाई अड्डों पर फंसे रहे। बहुस से यात्रियों को दूसरे देशों के एयरपोर्ट और विमानों में ही रात काटनी पड़ी। ब्रिटेन में इस घटना से खलबली मच गई। हवाई नेटवर्क के हैक होने की भी बात कही जा रही है।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: August 30, 2023 18:46 IST
ब्रिटिश एयरवेज का नेटवर्क फेल होने से मुश्किल में यात्री।- India TV Hindi
Image Source : AP ब्रिटिश एयरवेज का नेटवर्क फेल होने से मुश्किल में यात्री।

ब्रिटेन में अचानक हवाई नेटवर्क फेल हो जाने से खलबली मच गई। विभिन्न एयरपोर्ट पर हजारों यात्री मुश्किल में फंसे रहे। उड़ानें रद्द कर दिए जाने से यात्रियों की आफत कई गुना बढ़ गई। ब्रिटेन के में उड़ानों की आवाजाही दोनों ही रोक दी गई। इससे यात्री हलकान हो गए। इस घटना पर ब्रिटेन के हवाई यातायात नियंत्रण प्रमुख ने कहा है कि बड़े पैमाने पर व्यवधान का कारण "गलत" उड़ान डेटा था, जिससे हजारों यात्री हवाई अड्डों पर और विमानों में फंस गए, क्योंकि देश से आने और जाने वाली सैकड़ों उड़ानें रद्द कर दी गईं। बुधवार को भी इसका असर जारी रहा।

सोमवार को अफरातफरी से जुड़े "तकनीकी मुद्दे" का सामना करने वाली नेशनल एयर ट्रैफिक सर्विसेज (एनएटीएस) के मुख्य कार्यकारी मार्टिन रॉल्फ ने कहा कि प्रारंभिक जांच में पाया गया कि संबंधित विफलता गलत उड़ान डेटा का नतीजा थी, जिसकी प्रणाली द्वारा व्याख्या नहीं की जा सकी। उन्होंने सरकार के पिछले बयान को भी दोहराया कि यह साइबर हमले के कारण नहीं था। रॉल्फ ने कहा, "समस्या की प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि यह हमें प्राप्त कुछ उड़ान डेटा से संबंधित है।" हवाई यातायात प्रमुख ने यात्रियों को आश्वस्त किया कि सोमवार दोपहर से सभी एनएटीएस प्रणाली "सामान्य रूप से" काम कर रही हैं, लेकिन उन्होंने स्वीकार किया कि गर्मी की छुट्टियों के दौरान वर्ष के विशेष रूप से व्यस्त यात्रा समय के दौरान संबंधित स्थिति का प्रभाव महसूस किया जा रहा है।

ब्रिटेन ने गलत डेटा को बताया नेटवर्क फेल होने की वजह

कुछ खबरों में कहा गया है कि अफरातफरी एक फ्रांसीसी एयरलाइन द्वारा अपनी उड़ान योजना को गलत तरीके से दर्ज करने के बाद उत्पन्न हुई होगी। खबरों की पुष्टि या खंडन किए बिना, रॉल्फ ने साक्षात्कारों में प्रसारकों को बताया कि यह मुद्दा एकल उड़ान योजना से संबंधित हो सकता है। उन्होंने कहा, “हम जानते हैं कि इसका कारण उड़ान डेटा है और हम इसकी तह तक जाएंगे तथा समझेंगे कि ऐसा क्यों हुआ। हम जांच कर रहे हैं।” गलत डेटा के परिणामस्वरूप, उड़ान योजनाओं को मैन्युअल रूप से प्रणाली पर अपलोड करना पड़ा, जिससे पूरे ब्रिटेन में हवाई यातायात की रफ्तार थम गई। हजारों यात्री प्रभावित हुए, अनेक को दुनिया भर के हवाई अड्डों पर रात बिताने के लिए मजबूर होना पड़ा और अनेक अभी भी पुनर्निर्धारित उड़ानों का इंतजार कर रहे हैं।

उड़ान डेटा के विश्लेषण से पता चला कि ब्रिटेन के छह सबसे व्यस्त हवाई अड्डों पर मंगलवार को प्रस्थान और आगमन सहित लगभग 281 उड़ानें रद्द कर दी गईं। इनमें गैटविक में 75, हीथ्रो में 74, मैनचेस्टर में 63, स्टैनस्टेड में 28, ल्यूटन में 23 और एडिनबर्ग में 18 उड़ानें रद्द करनी पड़ीं। इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अनुसार, प्रणाली की विफलता से एयरलाइंस को 10 करोड़ पाउंड का नुकसान होने का अनुमान है। (भाषा)

यह भी पढ़ें

यूक्रेन ने रूस पर किया अब तक का सबसे बड़ा हमला, रूसी एयरपोर्ट को ड्रोन से उड़ाया; पलटवार में कीव में गई 2 लोगों की जान

नाइजर के बाद अब गैबॉन में भी तख्तापलट, सेना ने राष्ट्रपति को बनाया घर में बंधक

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन