1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. अमेरिका में 'गन कल्चर' पर बाइडेन का बड़ा फैसला, बनाया बंदूक हिंसा रोधी कानून

US Gun Violence Bill: अमेरिका में 'गन कल्चर' पर बाइडेन का बड़ा फैसला, बनाया बंदूक हिंसा रोधी कानून

US Gun Violence Bill: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने शनिवार को पिछले कुछ दशकों के सबसे महत्वपूर्ण माने जा रहे बंदूक हिंसा रोधी बिल पर साइन कर दिए। इस विधेयक को डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन दोनों राजनीतिक दलों का समर्थन मिला।

Swayam Prakash Edited by: Swayam Prakash @SwayamNiranjan
Updated on: June 26, 2022 6:26 IST
 Joe Biden signs anti-gun violence bill- India TV Hindi News
Image Source : AP  Joe Biden signs anti-gun violence bill

Highlights

  • अमेरिका के राष्ट्रपति का ऐतिहासिक फैसला
  • बाइडन ने बंदूक हिंसा रोधी बिल को दी मंजूरी
  • US में लगातार हो रहीं गोलीबारी की घटनाएं

US Gun Violence Bill: अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने शनिवार को पिछले कुछ दशकों के सबसे महत्वपूर्ण माने जा रहे बंदूक हिंसा रोधी बिल पर साइन कर दिए। इस विधेयक को डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन दोनों राजनीतिक दलों का समर्थन मिला। बता दें कि टेक्सास के एक स्कूल में एक बंदूकधारी शख्स ने अंधाधुंद फायरिंग में 19 छात्रों और दो शिक्षकों को बेरहमी से मार दिया था। इस घटना के बाद से ही देश में हथियार खरीदने संबंधी एक कड़े कानून के लिए सरकार पर दबाव बनाया जा रहा था। 

बाइडेन बोले- आज हमने यह कर दिया

टेक्सास के स्कूल की घटना के अलावा अमेरिका में हाल में हुईं गोलीबारी की सिलसिलेवार घटनाओं से पहले इस तरह के किसी विधेयक को अकल्पनीय माना जा रहा था। बाइडन ने विधेयक पर हस्ताक्षर करने के बाद व्हाइट हाउस में कहा, ‘‘इससे लोगों के जीवन की रक्षा होगी। गोलीबारी की घटनाओं में मारे गए लोगों के परिजनों का संदेश था कि हम कुछ करें। आज हमने यह कर दिया।’’ बृहस्पतिवार को इस विधेयक को अमेरिकी संसद के उच्च सदन सीनेट से और शुक्रवार को निचले सदन प्रतिनिधि सभा से मंजूरी मिल गई थी। अब बाइडन के हस्ताक्षर करने के साथ ही यह विधेयक एक कानून बन गया है। 

राज्यों को मिला लोगों से हथियार वापस लेने का अधिकार

बाइडन ने यूरोप में दो शिखर सम्मेलनों के लिए वाशिंगटन से रवाना होने से ठीक पहले विधेयक पर हस्ताक्षर किए। तेरह अरब डॉलर के इस विधेयक के तहत कम उम्र के बंदूक खरीदारों की पृष्ठभूमि की कड़ी जांच की जाएगी और राज्यों को खतरनाक समझे जाने वाले लोगों से हथियार वापस लेने का अधिकार दिया जाएगा। इसके अलावा स्कूलों की सुरक्षा, मानसिक स्वास्थ्य और हिंसा की रोकथाम के स्थानीय कार्यक्रमों को निधि मुहैया कराई जाएगी। 

अमेरिका में लगातार हो रहीं गोलीबारी की घटनाएं

अमेरिका को हिलाकर रख देने वाली गोलीबारी की घटनाओं के परिप्रेक्ष्य में यह कानून बेहद महत्वपूर्ण है। टेक्सास में हुई घटना से कुछ दिन पहले ‘नस्ली भावना’ रखने वाले 18 वर्षीय एक श्वेत युवक ने अमेरिका के बफेलो शहर के एक सुपरमार्केट में अंधाधुंध गोलबारी कर 10 अश्वेत लोगों की हत्या कर दी थी। देश में बंदूक हिंसा के खिलाफ उठाया गया सांसदों का पिछले कुछ दशकों में यह सबसे बड़ा कदम है। 

कानून को डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन दोनों का समर्थन

रिपब्लिकन पार्टी हथियारों की बिक्री पर रोक लगाने के डेमोक्रेटिक प्रयासों को सालों से बाधित कर रही थी, लेकिन न्यूयॉर्क और टेक्सास में हुई गोलीबारी की घटनाओं के मद्देनजर डेमोक्रेटिक पार्टी के अलावा कुछ रिपब्लकिन सांसदों ने इस बार फैसला किया कि इस संबंध में संसद की निष्क्रियता अब स्वीकार्य नहीं है। दो सप्ताह तक चली वार्ता के बाद दोनों दलों के सांसदों के एक समूह ने यह विधेयक पेश करने संबंधी समझौता किया, ताकि बंदूक हिंसा को रोका जा सके।

Latest World News