1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. दिल्ली
  4. दिल्ली में तापमान गिरने और धीमी हवा के कारण वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में

दिल्ली में तापमान गिरने और धीमी हवा के कारण वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में

तेज हवा चलने से रविवार तथा सोमवार को वायु गुणवत्ता में सुधार दर्ज किया गया था। मंगलवार को 24 घंटे का औसतन एक्यूआई 290 रहा था। इस महीने में दूसरी बार एक्यूआई में इतना सुधार देखा गया था, जो इससे पहले एक नवंबर को 281 दर्ज किया गया था।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 24, 2021 23:05 IST
Delhi’s air quality ‘very poor’ as mercury, windspeed dip- India TV Hindi
Image Source : PTI राष्ट्रीय राजधानी में धीमी हवा और तापमान गिरने के कारण बुधवार को वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गई।

Highlights

  • दिल्ली में न्यूनतम तापमान 9.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस मौसम का अभी तक सबसे कम तापमान है।
  • तेज हवा चलने से रविवार तथा सोमवार को वायु गुणवत्ता में सुधार दर्ज किया गया था।
  • मंगलवार को 24 घंटे का औसतन एक्यूआई 290 रहा था।

नयी दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में धीमी हवा और तापमान गिरने के कारण बुधवार को वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गई। शहर में सुबह पिछले चौबीस घंटों का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 361 रहा। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, दिल्ली में न्यूनतम तापमान 9.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस मौसम का अभी तक सबसे कम तापमान है। अधिकतम तापमान 28.8 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। 

तेज हवा चलने से रविवार तथा सोमवार को वायु गुणवत्ता में सुधार दर्ज किया गया था। मंगलवार को 24 घंटे का औसतन एक्यूआई 290 रहा था। इस महीने में दूसरी बार एक्यूआई में इतना सुधार देखा गया था, जो इससे पहले एक नवंबर को 281 दर्ज किया गया था। शेष दिनों में दिल्ली में वायु गुणवत्ता बहुत खराब या गम्भीर श्रेणी में दर्ज की गयी।

वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) बुधवार को, फरीदाबाद में 367, गाजियाबाद में 366, ग्रेटर नोएडा में 312, गुड़गांव में 305 और नोएडा में 325 रहा। बता दें कि एक्यूआई को शून्य और 50 के बीच अच्छा, 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच बहुत खराब और 401 और 500 के बीच गंभीर श्रेणी में माना जाता है। 

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वायु गुणवत्ता मॉनिटर ‘सफर’ ने कहा कि धीमी स्थानीय सतही हवाएं अगले तीन दिनों में प्रदूषकों के फैलाव को कम कर देंगी, जिससे वायु गुणवत्ता में गिरावट आएगी। 27 नवंबर से स्थानीय सतही हवा की गति में वृद्धि के साथ थोड़ा सुधार होने की संभावना है। सफर ने कहा, ‘‘सर्दियों की शुरुआत के साथ, वायु गुणवत्ता का निर्धारण करने में स्थानीय मौसम प्रमुख (कारक) होने की संभावना है।’’ 

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने वायु प्रदूषण से निपटने के लिए प्रतिबंधों की समीक्षा के वास्ते एक बैठक के बाद कहा कि आवश्यक सेवाओं में लगे वाहनों को छोड़कर ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध तीन दिसंबर तक जारी रहेगा। हालांकि, सीएनजी और इलेक्ट्रिक ट्रकों को 27 नवंबर से दिल्ली में प्रवेश करने की अनुमति होगी। सरकार ने वायु की गुणवत्ता में सुधार और श्रमिकों को हो रही असुविधा को देखते हुए, निर्माण और तोड़फोड़ से संबंधित गतिविधियों पर लगी रोक सोमवार को हटा दी थी। 

bigg boss 15