1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. सुशांत सिंह राजपूत मामले में AIIMS की फॉरेंसिक टीम का बयान, बोले- 'अब कानूनी पहलुओं पर विचार करने की जरूरत'

सुशांत सिंह राजपूत मामले में AIIMS की फॉरेंसिक टीम का बयान, बोले- 'अब कानूनी पहलुओं पर विचार करने की जरूरत'

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एम्स के फॉरेंसिंक मेडिकल बोर्ड के अध्यक्ष डॉक्टर सुधीर गुप्ता का बयान सामने आया है।

India TV Entertainment Desk India TV Entertainment Desk
Updated on: September 28, 2020 23:41 IST
Sushant Singh Rajput- India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM/SUSHANT SINGH RAJPUT Sushant Singh Rajput

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एम्स के फॉरेंसिंक मेडिकल बोर्ड के अध्यक्ष डॉक्टर सुधीर गुप्ता का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि दिवंगत अभिनेता की मौत के मामले में एम्स और सीबीआई की एक ही राय है, लेकिन और विचार-विमर्श की जरूरत है। 

डॉ. सुधीर गुप्ता ने कहा, "सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एम्स और सीबीआई की सहमति है, लेकिन और विचार-विमर्श की जरूरत है। तार्किक कानूनी निष्कर्ष के लिए कुछ कानूनी पहलुओं पर गौर करने की जरूरत है।"

बता दें कि एम्स की फॉरेंसिंक टीम सुशांत की मौत की गुत्थी सुलझाने में जुटी है। वहीं, दूसरी तरफ सुशांत सिंह राजपूत के पारिवारिक वकील विकास सिंह द्वारा कुछ दिनों पहले केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच में अपडेट मांगने के बाद शीर्ष एजेंसी ने सोमवार को कहा कि वह पेशेवर तरीकों से जांच के सभी एंगल को देख रही है। सीबीआई के प्रवक्ता आर.के. गौर ने एक बयान में कहा, "सीबीआई सुशांत की मौत के मामले में पेशेवर तरीके से जांच कर रही है, जिसमें सभी पहलुओं पर गौर किया जा रहा है और अभी तक किसी भी पहलू को खारिज नहीं किया गया है।"

रिया चक्रवर्ती ने हाईकोर्ट में कहा, 'ड्रग्स मामले की जांच सीबीआई करे, एनसीबी नहीं'

उन्होंने कहा कि आगे की जांच जारी है। सिंह ने पिछले सप्ताह एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की जांच सुशांत की मौत के मामले में वास्तविक सच्चाई को सामने लाने के लिए हो रही जांच से अधिक सामने आ रही है।

सिंह ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था, "पूरे बॉलीवुड को क्यों बुलाया जा रहा हैं? जिन्हें आज या कल बुलाया गया है, उन लोगों के पास से उन्हें कुछ बरामद नहीं होने वाला है। एनडीपीएस मामले में सब कुछ मात्रा पर निर्भर करता है, परिवार को लगता है कि यह मुख्य मुद्दे (सुशांत की मौत के मामले) से हटाने के लिए किया जा रहा है।"

वरिष्ठ अधिवक्ता ने आगे कहा कि बड़े सितारों को बुलाकर मीडिया का ध्यान मामले से हटा दिया गया है। सीबीआई ने जांच के संबंध में एक भी प्रेस बयान जारी नहीं किया है और जिस दिशा में जांच चल रही है वह परिवार के लिए थोड़ी चिंताजनक है।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मामले की जांच कर रही सीबीआई टीम को दिल्ली आए एक सप्ताह से अधिक समय बीत चुका है, लेकिन वे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में डॉक्टरों की टीम से नहीं मिले हैं।

सिंह ने कहा, "आज हम मामले पर पूरी तरह से असहाय हैं, क्योंकि सीबीआई कोई भी प्रेस ब्रीफिंग नहीं कर रही है। यह दिलचस्पी की कमी है और जिस गति के साथ मामला चल रहा है वह चिंताजनक है।"

सिंह ने कहा कि एम्स टीम के एक डॉक्टर ने दावा किया कि यह एक हत्या का मामला है। उन्होंने कहा, "एम्स की टीम में डॉक्टरों में से एक का मानना है कि यह गला घोंटने से 200 प्रतिशत मौत का मामला है न कि आत्महत्या। यह सुशांत की बहन मीतू द्वारा क्लिक की गई तस्वीरों के साथ साझा किया गया है।"

उन्होंने कहा, "अगर हत्या का मामला है तो जाहिर है, जांच का तरीका और तेजी अलग होना चाहिए। दुर्भाग्य से परिवार का कोई भी सदस्य सुशांत के साथ नहीं रह रहा था और इसलिए हम नहीं जानते कि वास्तव में क्या हुआ।"

सीबीआई ने बिहार सरकार के अनुरोध पर केंद्र से अधिसूचना मिलने के बाद 6 अगस्त को मामला दर्ज किया था। सीबीआई की एसआईटी टीम 20 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट द्वारा मामले को एजेंसी को सौंपने के एक दिन बाद मुंबई गई थी।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Bollywood News in Hindi के लिए क्लिक करें सिनेमा सेक्‍शन
Write a comment
X