1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. राणा दग्गुबाती ने इस वजह से फिल्म 'हाथी मेरे साथी' में किया काम

राणा दग्गुबाती ने इस वजह से फिल्म 'हाथी मेरे साथी' में किया काम

इस एडवेंचरस ड्रामा के लिए अभिनेता को लगभग अपना एक साल पूरी तरह से समर्पित करने थे, जिसमें हाथियों के साथ प्रशिक्षण, मानवता से दूर अनसुने लोकेशन्स पर शूटिंग करना और यहां तक ​​कि बॉडी ट्रांसफॉर्मेशन और बॉडी लैंग्वेज पर काम करने की जरूरत थी।

India TV Entertainment Desk India TV Entertainment Desk
Published on: March 18, 2021 23:02 IST
राणा दग्गुबाती rana daggubati- India TV Hindi
Image Source : TWITTER- RANA DAGGUBATI राणा दग्गुबाती 

'हाथी मेरे साथी' जैसी फिल्म के लिए हामी भरना हर किसी के बस की बात नहीं है। इस एडवेंचरस ड्रामा के लिए अभिनेता को लगभग अपना एक साल पूरी तरह से समर्पित करने को आवश्यकता थी जिसमें हाथियों के साथ प्रशिक्षण, मानवता से दूर अनसुने लोकेशन्स पर शूटिंग करना और यहां तक ​​कि बॉडी ट्रांसफॉर्मेशन और बॉडी लैंग्वेज पर काम करने की जरूरत थी। लेकिन राणा ने बड़ी मुस्कुराहट के साथ इस चुनौती के लिए हामी भर दी क्योंकि उनके पास इसके लिए एक नोबल कारण था। एक अनोखी और नोबल कहानी का हिस्सा होने के अलावा, यह प्रकृति और मानव जाति के प्रति आभार व्यक्त करने का उनका तरीका था। 

Happy Birthday Tanushree Dutta: फैट से फिट हुईं तनुश्री दत्ता, जानिए कैसे घटाया 18 किलो वजन

अपने कारणों को साझा करते हुए, राणा ने कहा, "हाथी मेरे साथी की कहानी का विचार प्रभु सोलोमन के दिमाग में उत्पन्न हुआ था। और अगर आप तमिल में उनकी कुछ फिल्में जैसे कुमकी और मयना देखते हैं, तो वे रूटेड हैं और जंगलों के करीब स्थापित हैं। वह  एक बड़ी फिल्म बनाना चाहते थे जो एडवेंचरस है और हाथियों के साथ है और एक ऐसे कारण को भी रेखांकित करती है जिस पर उन्हें पिछले कई वक़्त से विश्वास है। इरोस और वह,  मेरे लिए यह फिल्म लेकर आए। ” 

प्रभु सोलोमन द्वारा निर्देशित त्रिभाषी के लिए खुद को समर्पित करने के अपने निर्णय के बारे में बताते हुए, राणा बताते हैं, "बाहुबली के बाद, मैंने सोचा, 'ठीक है, अब मैं क्या करूँ?" मेरे लिए, बंदेव एक महान चरित्र था, क्योंकि वह एक ऐसा व्यक्ति था जो हाथियों के लिए लड़ रहा था, जंगल के लिए लड़ रहा था। जब मैंने पहली बार कहानी सुनी, तो यह मोगली के पुराने वर्शन की तरह लगा। अगर मोगली बड़ा हो जाता और उसे समाज से कोई समस्या होती, तो वह क्या करता? ” 

Tanushree Dutta Birthday: अपनी पहली फिल्म से तनुश्री दत्ता ने लोगों को बना दिया था अपना 'आशिक' 

यह बताते हुए कि हाथी मेरे साथी की वैश्विक अपील क्यों है, राणा कहते हैं, "मैंने जो महसूस किया है वह यह है कि हाथी, जानवर और प्रकृति से हम से इस कदर जुड़े हुए है कि इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप देश के किस हिस्से में रहते हैं। इसलिए यह सबसे अच्छी फिल्म है जिसे आप माउंट कर सकते हैं और राष्ट्रीय फिल्म के रूप में सामने ला सकते हैं।" 

सिर्फ़ यही नहीं, राणा ने इस त्रिभाषी फ़िल्म को नॉबल करार करते हुए साझा किया,"हम एक ऐसे समय में रह रहे हैं जहां हम इस बात से अवगत हैं कि कैसे वातावरण में बदलाव होता है और हमें कैसे सावधान रहने और सही काम करने की आवश्यकता है। इसलिए उस अर्थ में, यह सही मायने में एक बड़ी एडवेंचरस फिल्म है और साथ ही, फ़िल्म में ऐसा मैसेज साझा किया गया है जो बहुत नॉबल है।" 

हाथी मेरे साथी एक ऐसी कहानी है जो एक आदमी (राणा दग्गुबाती) की कहानी का पता लगाती है, जो इकोसिस्टम की रक्षा करते हुए अपना अधिकांश जीवन जंगल में बिताता है। 2021 की पहली त्रिभाषी फिल्म, तेलुगु में अरन्या और तमिल में कादान नाम से रिलीज़ होगी। 

राणा के लिए यह एक हैट्रिक होगी क्योंकि बहुप्रशंसित बाहुबली श्रृंखला और द गाजी अटैक के बाद हाथी मेरे साथी उनकी तीसरी त्रिभाषी फिल्म है। 

इरोस एसटीएक्स ग्लोबल कॉरपोरेशन के एक डिवीजन इरोस मोशन पिक्चर्स द्वारा फिल्म को निर्मित किया जा रहा है, यह भारतीय फिल्म उद्योग में एक स्थापित नाम है जो 40 वर्षों से अधिक का ट्रैक रिकॉर्ड रखता है। 

यह पैन-इंडिया बहुभाषी फ़िल्म 26 मार्च 2021 को आपके नजदीकी सिनेमाघरों में रिलीज़ होगी।

Click Mania
Modi Us Visit 2021