1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. देश के नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सभी वयस्कों को वैक्सीन की पहली खुराक मिली

देश के नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सभी वयस्कों को वैक्सीन की पहली खुराक मिली

कोविड वैक्सीन की सबसे ज्यादा खुराक देने वाले शीर्ष पांच प्रदेशों में उत्तर प्रदेश सबसे ऊपर है। इसके बाद महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात और मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा खुराक दी गई।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: October 21, 2021 16:25 IST
Adult population in nine States received first dose of COVID-19 vaccine- India TV Hindi
Image Source : PTI भारत में कोविड-19 टीकों की अब तक दी गई खुराकों की संख्या बृहस्पतिवार को 100 करोड़ के पार पहुंच गई।

नयी दिल्ली: भारत में कोविड-19 टीकों की अब तक दी गई खुराकों की संख्या बृहस्पतिवार को 100 करोड़ के पार पहुंच गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने एक ट्वीट करके देश को यह उपलब्धि हासिल करने पर बधाई दी और कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सक्षम नेतृत्व का परिणाम है। देश के नौ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 18 वर्ष से अधिक की शतप्रतिशत आबादी को कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक दिए जाने के साथ भारत की 75 प्रतिशत से ज्यादा वयस्क जनसंख्या को वैक्सीन की कम से कम एक खुराक दी जा चुकी है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, देश की वयस्क जनसंख्या में 31 प्रतिशत से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन की दोनों खुराक दी जा चुकी है। अब तक अंडमान निकोबार द्वीप समूह, चंडीगढ़, गोवा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, लक्षद्वीप, सिक्किम, उत्तराखंड और दादरा एवं नगर हवेली में सभी वयस्क लोगों को वैक्सीन की कम से कम एक खुराक लग चुकी है। 

कोविड वैक्सीन की सबसे ज्यादा खुराक देने वाले शीर्ष पांच प्रदेशों में उत्तर प्रदेश सबसे ऊपर है। इसके बाद महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात और मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा खुराक दी गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा था, “सौ करोड़ खुराक दिए जाने के बाद, हम दूसरी खुराक देने के लिए मिशन मोड में काम करेंगे ताकि लोग कोविड-19 से सुरक्षित रहें।” मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 1,03,53,51,045 से अधिक खुराक दी गयी है। 

मंत्रालय ने बताया कि कोविड वैक्सीन की इस्तेमाल नहीं की गई और बची रह गई 10.85 करोड़ खुराक अब भी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के पास उपलब्ध है। देश को 30 करोड़ से 40 करोड़ तक पहुंचने में 24 दिन लगे और इसके 20 और दिन बाद छह अगस्त को देश में टीकों की दी गई खुराकों की संख्या बढ़कर 50 करोड़ पहुंच गई। इसके बाद उसे 100 करोड़ के आंकड़े तक पहुंचने में 76 दिन लगे। वैक्सीनेशन मुहिम की शुरुआत 16 जनवरी को हुई थी और इसके पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए गए थे।

इसके बाद दो फरवरी से अग्रिम मोर्चे के कर्मियों का वैक्सीनेशन आरंभ हुआ था। वैक्सीनेशन मुहिम का अगला चरण एक मार्च से आरंभ हुआ, जिसमें 60 साल से अधिक आयु के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को वैक्सीन लगाने शुरू किए गए। देश में 45 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का वैक्सीनेशन एक अप्रैल से आरंभ हुआ था और 18 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का वैक्सीनेशन एक मई से शुरू हुआ।

bigg boss 15