1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. 18 से 45 वर्ष की आयु के लोगों को टीका लगवाने के लिये कोविन पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य

18 से 45 वर्ष की आयु के लोगों को टीका लगवाने के लिये कोविन पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य

कोविड-19 प्रतिरक्षा टीका लगवाने के इच्छुक 18 से 45 साल की आयु के लोगों के लिये कोविन वेब पोर्टल पर पंजीकरण कराना और टीकाकरण के लिये समय लेना अनिवार्य होगा, क्योंकि प्रारंभ में टीकाकरण केन्द्र पर पंजीकरण कराने की अनुमति नहीं है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 25, 2021 16:44 IST
18 से 45 वर्ष की आयु के लोगों को टीका लगवाने के लिये कोविन पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य- India TV Hindi
Image Source : PTI 18 से 45 वर्ष की आयु के लोगों को टीका लगवाने के लिये कोविन पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य

नयी दिल्ली। देश में 1 मई से 18 से 45 साल की उम्र के लोगों के लिए कोरोना टीकाकरण की शुरुआत होने जा रही है। कोविड-19 प्रतिरक्षा टीका लगवाने के इच्छुक 18 से 45 साल की आयु के लोगों के लिये कोविन वेब पोर्टल पर पंजीकरण कराना और टीकाकरण के लिये समय लेना अनिवार्य होगा, क्योंकि प्रारंभ में कोरोना टीकाकरण केन्द्र पर पंजीकरण कराने की अनुमति नहीं है। आधिकारिक सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हालांकि 45 से अधिक आयु के लोग टीकाकरण केन्द्र पर पंजीकरण कराकर टीका लगवा सकते हैं। 

कोविन ऐप पर पंजीकरण कराना अनिवार्य

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में अचानक भारी वृद्धि होने के मद्देजनजर 18 वर्ष के अधिक आयु के सभी लोगों को 1 मई से टीका लगाने का निर्णय लिया गया है। एक अधिकारी ने कहा, ''सभी को टीके लगाने की शुरुआत होने के बाद टीकों की मांग में वृद्धि होने का अनुमान है। भीड़ को नियंत्रित करने के उद्देश्य से 18 से 45 साल की आयु के लोगों के लिये कोविन ऐप पर पंजीकरण कराना और टीका लगवाने के लिये समय लेना अनिवार्य किया गया है। प्रारंभ में टीकाकरण केन्द्रों पर पंजीकरण कराने की अनुमति इसलिये नहीं होगी ताकि गहमागहमी न हो।'' 

28 अप्रैल से करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

टीका लगवाने के इच्छुक 18 से 45 साल की आयु के लोगों के लिये 28 अप्रैल से कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतू ऐप पर पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। टीकाकरण की प्रक्रिया और टीका लगवाने के लिये पेश किये जाने वाले दस्तावेज वही रहेंगे। फिलहाल निजी कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र सरकार से टीकों की खुराकें लेकर 250 रुपए प्रति खुराक के हिसाब से लोगों को दे रहे हैं। एक मई से यह व्यवस्था खत्म हो जाएगी और निजी अस्पतालों को सीधे टीका निर्माताओं से खुराकें खरीदनी होंगी। 

इनको लगते रहेंगे निशुल्क टीका

राष्ट्रीय कोविड-19 टीकाकरण रणनीति के अनुसार सरकारी टीकाकरण केन्द्रों में स्वास्थ्य कर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों और 45 साल से अधिक आयु के लोगों को केन्द्र सरकार की ओर से निशुल्क टीके लगाए जाते रहेंगे। टीका निर्माताओं को एक मई से पहले खुले बाजार में राज्य सरकरों के लिये उपलब्ध टीकों की आपूर्ति के लिये 50 प्रतिशत दाम की पहले ही घोषणा करनी होगी। इसी दाम के आधार पर निजी अस्पताल, औद्योगिक प्रतिष्ठान निर्माताओं से टीके खरीद सकेंगे। 

सामने आई ऑक्सीजन चेक करने की सच्चाई, क्या इन 3 चीजों के सेवन से नहीं होगा कोरोना?

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X