1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. पुलवामा शहीदों को उमेश जाधव की अनोखी श्रद्धांजली, 61000 किमी सफर कर सभी 40 शहीदों के घर से इकट्ठी की मिट्टी

पुलवामा शहीदों को उमेश जाधव की अनोखी श्रद्धांजली, 61000 किमी सफर कर सभी 40 शहीदों के घर से इकट्ठी की मिट्टी

देश आज पुलवामा में 40 जवानों की शहदात की पहली बरसी मना रहा है। इस मौके पर महाराष्ट्र के एक शख्स ने एक बिल्कुल जुदा तरीके से शहीदों को श्रद्धांजलि दी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 14, 2020 11:40 IST
Umesh Jadhav- India TV
Umesh Jadhav

देश आज पुलवामा में 40 जवानों की शहदात की पहली बरसी मना रहा है। इस मौके पर महाराष्ट्र के एक शख्स ने एक बिल्कुल जुदा तरीके से शहीदों को श्रद्धांजलि दी है। उमेश गोपीनाथ जाधव ने शहीदों को अपनी खास श्रद्धांजलि देने के लिए पिछले एक साल में 61000 किमी. का सफर तय किया। इस दौरान वे पु​लवामा हमले में शहीद हुए सभी 40 जवानों के घर गए और उनके परिवार से मिले। जम्मू कश्मीर के लेखपुरा में सीआरपीएफ हेडक्वार्टर में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित खास कार्यक्रम में सीआरपीएफ को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है। 

बेंगलुरु निवासी उमेश गोपीनाथ जाधव पेशे से म्यूजिशियन और फार्माकॉलजिस्ट हैं। पिछले साल वे अजमेर में एक म्यूजिक कॉन्सर्ट के बाद बेंगलुरू लौट रहे थे। तभी जयपुर एयरपोर्ट की टीवी स्क्रीन में सीआरपीएफ हमले की न्यूज आने लगी। घटनास्थल की भयावह तस्वीर देखते ही उन्होंने बहादुरों के परिवार के लिए कुछ करने का फैसला किया। उन्होंने कहा, 'मुझे गर्व है कि मैं पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों से मिला और उनकी दुआएं लीं। मां-बाप ने अपने बेटे को खोया, पत्नियों ने अपने पतियों को, बच्चों ने अपने पिता को, दोस्तों ने अपने दोस्त को। मैंने उनके घर और श्मशान घाट जाकर मिट्टी इकट्ठा की।'

उन्होंने बताया, 'जवानों के परिवारों को ढूंढना इतना आसान नहीं था। कुछ घर काफी अंदर के इलाके में थे। इसके बाद कई और चुनौतियां भी थीं।' उमेश की कार में देशभक्ति के स्लोगन लिखे हुए हैं और रात गुजारने के लिए वह इसी में सोते थे। वह होटल का खर्चा नहीं उठा सकते थे।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment