1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. पटियाला जेल भेजे गए सिद्धू, बने कैदी नंबर 241383, जेल में मिली दो पगड़ी, एक कंबल और...

Navjot sidhu in Jail: पटियाला जेल भेजे गए सिद्धू, बने कैदी नंबर 241383, जेल में मिली दो पगड़ी, एक कंबल और...

Navjot sidhu in Jail: कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला कोर्ट में सरेंडर करने के बाद जेल भेज दिया गया है। सिद्धू को पटियाला जेल के 10 नंबर वार्ड में रखा गया है। 

Deepak Vyas Edited by: Deepak Vyas @deepakvyas9826
Published on: May 21, 2022 6:47 IST
Navjot singh sidhu in Jail- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Navjot singh sidhu in Jail

Navjot sidhu in Jail: कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला कोर्ट में सरेंडर करने के बाद जेल भेज दिया गया है। सिद्धू को पटियाला जेल के 10 नंबर वार्ड में रखा गया है। यह वार्ड 12x15 फीट का है। पटियाला जेल में वे कैदी नंबर 241383 बने हैं। सिद्धू के कट्टर प्रतिद्वंद्वी बिक्रम सिंह मजीठिया, जिन्होंने इस साल फरवरी में मादक पदार्थों की तस्करी के एक मामले में आत्मसमर्पण किया था, वह भी पटियाला जेल में बंद है।

जेल में मिला ये सामान

इसके अलावा नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला जेल में एक कुर्सी, मेज, दो पगड़ी, एक अलमारी, एक कंबल, एक बेड, तीन अंडरवियर और बनियान, दो टॉवल, एक मच्छरदानी, एक कॉपी पेन, एक शूज की जोड़ी, दो बेडशीट, चार कुर्ते पजामे और दो सिरहाने का कवर मिला है। सिद्धू में जेल को काम के बदले 30 से 90 रुपए प्रतिदिन मिलेंगे।

34 साल पुराने रोड रेज मामले में सजा

सिद्धू के वार्ड से आधा किलोमीटर की दूरी पर बिक्रम जीत सिंह मजीठिया का वार्ड है। दरअसल, सिद्धू को रोड रेज मामले में सुप्रीम कोर्ट ने एक साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने उन्हें आत्मसमर्पण करने के लिए कहा था। सिद्धू ने कल शुक्रवार को पटियाला कोर्ट में सरेंडर कर दिया जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू को 34 साल पुराने रोडरेज मामले में सजा सुनाई है। सिद्धू से जिस व्यक्ति का झगड़ा हुआ था, उसकी मौत हो गई थी।

जानें क्या था 1988 का पूरा मामला

बता दें कि सिद्धू के खिलाफ रोडरेज का मामला साल 1988 का है। सिद्धू का पटियाला में पार्किंग को लेकर 65 साल के गुरनाम सिंह नामक बुजुर्ग व्यक्ति से झगड़ा हो गया। आरोप है कि उनके बीच हाथापाई भी हुई। जिसमें सिद्धू ने कथित तौर पर गुरनाम सिंह को मुक्का मार दिया था। बाद में गुरनाम सिंह की मौत हो गई। पुलिस ने नवजोत सिंह सिद्धू और उनके दोस्त रुपिंदर सिंह सिद्धू के खिलाफ गैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया।