Ghulam Nabi Azad: इस्तीफे के बाद गुलाम नबी आजाद ने बताई कांग्रेस की नजरों में खटकने की वजह, दिया ये बयान

Ghulam Nabi Azad: गुलाम नबी ने कहा, 'मोदी तो सिर्फ एक बहाना है। इनकी (कांग्रेस) आंखों में जी-20 के लेटर के बाद से मैं खटक रहा था। ये लोग चाहते थे कि हमको कोई लेटर नहीं लिखे क्योंकि हम कानून से परे हैं।

Rituraj Tripathi Written By: Rituraj Tripathi @rocksiddhartha7
Updated on: August 29, 2022 13:40 IST
Ghulam Nabi Azad- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV GFX Ghulam Nabi Azad

Highlights

  • इनकी (कांग्रेस) आंखों में जी-20 के लेटर के बाद से मैं खटक रहा था: गुलाम नबी
  • ये लोग चाहते थे कि हमको कोई लेटर नहीं लिखे क्योंकि हम कानून से परे: गुलाम नबी
  • कांग्रेस जीरो भी लाए, फिर भी इनसे कोई कुछ नहीं पूछेगा: गुलाम नबी

Ghulam Nabi Azad: कांग्रेस से इस्तीफे के बाद गुलाम नबी आजाद ने पीएम मोदी की तारीफ की है और कांग्रेस पर निशाना साधा है। गुलाम नबी ने कहा, 'नरेंद्र मोदी और बीजेपी से वो मिले हैं, जो उनका सपना पूरा कर रहे हैं, मैं उनसे नहीं मिला हूं। मुझे घर वालों ने घर छोड़ने पर मजबूर किया। घर वाले अगर नहीं चाहते है कि मैं वहां रहूं तो अक्लमंद आदमी वो है, जो घर से निकल जाए।'

गुलाम नबी ने पीएम मोदी के साथ कश्मीर वाली घटना पर बयान दिया

पीएम मोदी से बढ़ती करीबी के सवालों पर गुलाम नबी ने उस घटना के बारे में विस्तार से बताया, जिसकी तारीफ पीएम मोदी ने की थी। उन्होंने पीएम मोदी द्वारा अपने लिए कहे गए शब्दों के बारे में बताया, 'मैं समझता था कि मोदी बहुत क्रूर आदमी हैं। शादी नहीं की है और बीबी-बच्चे नहीं हैं, तो उनको कोई परवाह नहीं होगी। लेकिन मोदी ने इंसानियत दिखाई। जब मैं कश्मीर का सीएम था तो गुजरात की टूरिस्ट बस में धमाका हुआ था। लोग ऑन स्पॉट मर गए थे। किसी की टांग नहीं थी और किसी की आंख नहीं थी। उस समय जब गुजरात के तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी का फोन आया तो मैं रो रहा था। बाद में पीएम मोदी ने इसी घटना का जिक्र किया था। ना वो मेरे लिए रोए थे और ना मैं उनके लिए रोया था। वो इस घटना को याद करके भावुक हो गए थे।'

जी-20 के लेटर के बाद से मैं खटक रहा था: गुलाम नबी

गुलाम नबी ने कहा, 'मोदी तो सिर्फ एक बहाना है। इनकी (कांग्रेस) आंखों में जी-20 के लेटर के बाद से मैं खटक रहा था। ये लोग चाहते थे कि हमको कोई लेटर नहीं लिखे क्योंकि हम कानून से परे हैं। कांग्रेस जीरो भी लाए, फिर भी इनसे कोई कुछ नहीं पूछेगा। लेकिन हमने जब इनकी फंक्शनिंग और वर्किंग को चैंलेंज किया और कहा कि इनके इलेक्शन नहीं हो रहे हैं, उस दिन से मैं इनको खटकने लगा।'

गुलाम नबी ने कहा कि हमने इनको इतने सजेशन दिए लेकिन किसी को भी माना नहीं गया। हमने इनको बोला था कि हमें कांग्रेस में कोई पद नहीं चाहिए, हमने तो मांग की थी कि आने वाले 5 इलेक्शन के लिए कैंपेन कमेटी बनाई जाए। लेकिन आप कैंपेन कमेटी तब बनाते हो जब इलेक्शन खत्म हो गया।

Latest India News

navratri-2022