1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. महाराष्ट्र
  4. फोन टैपिंग डेटा लीक मामला: मुंबई पुलिस ने CBI निदेशक सुबोध जायसवाल को तलब किया

फोन टैपिंग डेटा लीक मामला: मुंबई पुलिस ने CBI निदेशक सुबोध जायसवाल को तलब किया

मुंबई पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ ने ‘फोन टैपिंग और आंकड़े लीक’ होने के मामले के संबंध में शनिवार को महाराष्ट्र के पूर्व पुलिस महानिदेशक और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के निदेशक सुबोध जायसवाल को सम्मन भेजा। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 09, 2021 20:48 IST
Subodh Kumar Jaiswal, CBI director- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Subodh Kumar Jaiswal, CBI director

मुंबई: मुंबई पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ ने ‘फोन टैपिंग और आंकड़े लीक’ होने के मामले के संबंध में शनिवार को महाराष्ट्र के पूर्व पुलिस महानिदेशक और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के निदेशक सुबोध जायसवाल को सम्मन भेजा। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। सुबोध जायसवाल को 14 अक्टूबर को पूछताछ के लिए उपस्थित होने के लिए कहा गया है। मुंबई पुलिस ने सीबीआई के डायरेक्टर सुबोध जायसवाल को महाराष्ट्र के खुफिया विभाग के तबादलों और पोस्टिंग का डेटा लीक होने के मामले में तलब किया है। पुलिस ने कहा है कि समन ई-मेल के जरिए भेजा गया है, जिसमें उन्हें अगले गुरुवार (14 अक्टूबर) को पेश होने के लिए कहा गया है।

अधिकारी ने कहा कि जायसवाल से 14 अक्टूबर को उपस्थित होकर अपना बयान दर्ज कराने को कहा गया है। यह मामला भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी रश्मि शुक्ला द्वारा तैयार की गई एक रिपोर्ट ‘लीक’ होने से जुड़ा है। रिपोर्ट में कहा गया था कि जब शुक्ला महाराष्ट्र पुलिस के खुफिया विभाग की प्रमुख थीं तब पुलिस अधिकारियों के स्थानांतरण में कथित तौर पर भ्रष्टाचार हुआ। उस दौरान जायसवाल पुलिस महानिदेशक थे। आरोप है कि जांच के दौरान वरिष्ठ नेताओं और अधिकारियों के फोन टैप किये गए और रिपोर्ट को जानबूझकर लीक किया गया लेकिन इस संबंध में साइबर प्रकोष्ठ द्वारा दर्ज प्राथमिकी में शुक्ला या किसी अन्य अधिकारी का नाम नहीं है। 

जानिए क्या है मामला?

बता दें कि, जब सुबोध जायसवाल महाराष्ट्र के डीजी थे तब SID चीफ रश्मि शुक्ला ने ट्रांसफ़र पोस्टिंग से जुड़ी रिकॉर्डिंग की थी और एक रिपोर्ट भी तैयार की थी। जो कि विरोधी पक्ष के नेता देवेंद्र फडनवीस ने मीडिया के सामने सचिन वाजे की गिरफ्तारी के बाद सामने रखा था। उस समय रिपोर्ट के बारे में बताया गया था और रिपोर्ट भी लीक हुई थी। इसके बाद मुंबई क्राइम ब्रांच की सायबर सेल ने अज्ञात शख्स के खिलाफ ओफिशीयल सीक्रेट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। बता दें कि, इस मामले की सुनवाई बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा की जा रही है। 

ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत दर्ज हुआ है मामला

इस घटना के बाद मुंबई क्राइम ब्रांच की साइबर सेल ने अज्ञात शख्स के खिलाफ ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। इसी मामले को लेकर मुंबई की साइबर सेल जांच कर रही है। इस मामले में इससे पहले रश्मि शुक्ला का भी बयान दर्ज किया जा चुका है, अब पूरे मामले में सीबीआई निदेशक सुबोध कुमार जायसवाल को नोटिस भेजा गया है।

जानिए आईपीएस अधिकारी सुबोध जायसवाल के बारे में 

गौरतलब है कि, महाराष्ट्र कैडर के 1985 बैच के आईपीएस अधिकारी सुबोध जायसवाल को इस साल मई में दो साल की अवधि के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) का प्रमुख नियुक्त किया गया था। जायसवाल मुंबई पुलिस में शीर्ष पद पर रहे हैं। बाद में इस साल की शुरुआत में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर बुलाए जाने से पहले वे महाराष्ट्र के पुलिस प्रमुख थे।

Click Mania
bigg boss 15