Sunday, April 14, 2024
Advertisement

'स्टेट' और 'नेशनल हाइवे' के किनारे ट्रैक्टर खड़े कर किसानों ने किया प्रदर्शन, WTO को लेकर कही ये बात

पंजाब के कई इलाकों में किसानों ने हाइवे के किनारे ट्रैक्टर खड़ा करके प्रदर्शन किया है। किसानों ने WTO समझौते से कृषि क्षेत्र को बाहर करने की मांग उठाई है।

Amar Deep Edited By: Amar Deep
Updated on: February 27, 2024 6:20 IST
हाइवे किनारे ट्रैक्टर खड़े कर किसानों ने किया प्रदर्शन।- India TV Hindi
Image Source : PTI हाइवे किनारे ट्रैक्टर खड़े कर किसानों ने किया प्रदर्शन।

चंडीगढ़: संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले किसानों ने कृषि क्षेत्र को विश्व व्यापार संगठन (WTO) समझौते से बाहर करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। किसानों ने हाइवे के किनारे अपने ट्रैक्टर खड़े कर अपना विरोध जताया। बता दें कि यह कदम ऐसे समय उठाया गया है जब संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) और किसान मजदूर मोर्चा के नेतृत्व में हजारों किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च को पंजाब की सीमा पर खनौरी और शंभू में सुरक्षा बलों ने रोक दिया है। किसान फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी समेत विभिन्न मांगों को लेकर केंद्र पर दबाव बनाने के वास्ते आंदोलन कर रहे हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले किया प्रदर्शन

किसानों ने एसकेएम के बैनर तले सोमवार दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक 'डब्ल्यूटीओ छोड़ो दिवस' प्रदर्शन आयोजित करने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि वे स्टेट और नेशनल हाइवे पर यातायात को बाधित किये बिना अपने ट्रैक्टर खड़े करेंगे। एसकेएम ने 2020-21 के किसान आंदोलन का नेतृत्व किया था। पंजाब के होशियारपुर में, किसानों ने जालंधर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग सहित कई स्थानों पर अपने ट्रैक्टर खड़े किए। वहीं दोआबा किसान समिति के प्रदेश अध्यक्ष जंगवीर सिंह चौहान के नेतृत्व में किसानों ने टांडा के बिजली घर चौक पर भी अपने ट्रैक्टर सड़क पर खड़े किये। जंगवीर सिंह चौहान ने एक सभा को संबोधित करते हुए डब्ल्यूटीओ की नीतियों की आलोचना की और उन्हें किसान विरोधी बताया। 

इन जगहों पर दिखा किसानों का प्रदर्शन

वहीं भारतीय किसान यूनियन (राजेवाल), बीकेयू (कादियान), बीकेयू (एकता उगराहां) जैसे कई अन्य कृषि संगठनों के सदस्यों ने भी प्रदर्शन किया। किसानों ने होशियारपुर-फगवाड़ा रोड, नसराला-तारागढ़ रोड, दोसरका-फतेहपुर रोड, बुल्लोवाल-एलोवाल रोड और भूंगा-हरियाणा रोड पर अपने ट्रैक्टर खड़े किए। प्रदर्शनकारियों ने एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी, कर्ज माफी, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने और किसानों के लिए पेंशन की भी मांग की। अमृतसर में किसानों ने अजनाला, जंडियाला गुरु, रय्या और ब्यास में राजमार्गों के किनारे अपने वाहन खड़े किए। वहीं लुधियाना में एसकेएम से जुड़े किसानों ने डब्ल्यूटीओ के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए लुधियाना-चंडीगढ़ रोड पर राजमार्ग के किनारे अपने ट्रैक्टर खड़े किए। 

(इनपुट- भाषा)

यह भी पढ़ें- 

अब चंडीगढ़ में डिप्टी और सीनियर डिप्टी मेयर को लेकर फंसा पेंच, हाई कोर्ट पहुंची कांग्रेस

पूर्व CM अमरिंदर सिंह ने हरियाणा के सीएम खट्टर से की अपील, दोषी पुलिसकर्मियों पर हो कार्रवाई

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें पंजाब सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement