ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. IND v NZ : रहाणे और पुजारा का 'फ्लॉप शो' जारी, अश्विन के रनों को भी नहीं कर सके पार

IND v NZ : रहाणे और पुजारा का 'फ्लॉप शो' जारी, अश्विन के रनों को भी नहीं कर सके पार

भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर के ग्रीनपार्क में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में एक बार फिर अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा ने निराश किया

India TV Sports Desk Written by: India TV Sports Desk
Updated on: November 28, 2021 14:06 IST
IND v NZ- India TV Hindi
Image Source : GETTY IND v NZ : रहाणे और पुजारा का 'फ्लॉप शो' जारी, अश्विन के रनों को भी नहीं कर सके पार 

Highlights

  • अजिंक्य रहाणे ने साल 2021 में 12 टेस्ट मैचों की 21 पारियों में 19.57 की औसत से सिर्फ 411 रन बनाए हैं।
  • चेतेश्वर पुजारा इस साल 12 मैचों की 22 पारियों में करीब 30 की औसत से 639 रन ही बना सके हैं।
  • आर अश्विन कानपुर टेस्ट की पहली पारी में 38 रन जबकि दूसरी पारी में 32 रन बनाने में सफल रहे।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर के ग्रीनपार्क में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में एक बार फिर अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा ने निराश किया। रहाणे दूसरी पारी में सिर्फ 4 रन बनाकर पवेलियन लौट गए तो वहीं, पुजारा 22 रन से आगे नहीं बढ़ सके। पहली पारी में भी दोनों बल्लेबाज फ्लॉप साबित हुए थे। रहाणे ने पहली पारी में 35 रन बनाए जबकि पुजारा 26 रन के स्कोर पर चलते बने।

इस बेहद ही खराब प्रदर्शन के बाद रहाणे और पुजारा में किसी एक बल्लेबाज का मुंबई में होने वाले दूसरे टेस्ट से बाहर होना तय माना जा रहा है। दरअसल, मुंबई में होने वाले टेस्ट में कप्तान विराट कोहली टीम में शामिल हो जाएंगे जिसके बाद दोनों में से किसी एक खिलाड़ी का बाहर बैठना तय लग रहा है।

रहाणे और पुजारा के इस साल के प्रदर्शन पर नजर डालें तो आंकड़े निराश करते हैं। अजिंक्य रहाणे ने साल 2021 में 12 टेस्ट मैचों की 21 पारियों में 19.57 की औसत से सिर्फ 411 रन बनाए हैं जिसमें सिर्फ 2 अर्धशतक शामिल हैं। डेब्यू के बाद से रहाणे के टेस्ट करियर का ये एक साल के भीतर सबसे खराब औसत है।

IND v NZ : टिम साउदी ने रचा इतिहास, ऐसा करने वाले बने सिर्फ दूसरे कीवी गेंदबाज

दूसरी तरफ, पुजारा इस साल 12 मैचों की 22 पारियों में करीब 30 की औसत से 639 रन ही बना सके हैं। पुजारा के खराब प्रदर्शन का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वह पिछली 40 टेस्ट पारियों में एक भी शतक नहीं लगा पाए हैं। यही नहीं, घरेलू धरती पर पिछली 21 पारियों में उनके बल्ले से कोई शतक नहीं निकला है। 

रहाणे के बल्ले से शतक निकले हुए करीब 11 महीने का समय बीत चुका है। उन्होंने आखिरी शतक 26 दिसंबर 2020 को मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था। इस शतकीय पारी के बाद से रहाणे 12 टेस्ट मैच खेल चुके हैं लेकिन अपने निजी स्कोर को 3 अंक तक नहीं पहुंचा सके हैं।

कानपुर में खेले जा रहे टेस्ट मैच की बात करें तो आर अश्विन ने रहाणे और पुजारा से ज्यादा दोनों पारियों में रन बनाए हैं। अश्विन ने पहली पारी में 38 जबकि दूसरी पारी में 32 रनों की पारी खेली। इस तरह अश्विन गेंदबाजी के अलावा बल्लेबाजी से भी प्रभावित करने में सफल रहे और पुजारा-रहाणे की बल्लेबाजी पर भी भारी पड़े। 

दिलचस्प बात ये है कि इस साल अश्विन का टेस्ट में औसत कोहली (29.80), पुजारा (30.42), रहाणे (19.57) और गिल (27.64) से भी ज्यादा का है। अश्विन ने साल 2021 में 7 मैचों की 12 पारियों में 30.63 के औसत से 337 रन बनाए हैं जिसमें एक शतक भी शामिल है। अश्विन ने ये शतक इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में बनाया था। 

लाइव स्कोरकार्ड

elections-2022