1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. डेब्यू मैच में शतक लगाने वाली दो भारतीयों की कहानी, एक बनी रन मशीन तो दूसरी की चमक पड़ गई फीकी

डेब्यू मैच में शतक लगाने वाली दो भारतीयों की कहानी, एक बनी रन मशीन तो दूसरी की चमक पड़ गई फीकी

रेशमा गांधी मुख्य रूप से विकेटकीपर बल्लेबाज थी। अपने डेब्यू मैच में वह इसी भूमिका में खेली थी लेकिन तब भारतीय टीम में अंजू जैन के रूप में मंझी हुई विकेटकीपर बल्लेबाज थी।

Bhasha Bhasha
Published on: June 26, 2020 14:14 IST
Mithali raj, reshma gandhi, indian women's cricket team- India TV Hindi
Image Source : TWITTER/ @FANSCRICKETLK Reshma gandhi and Mithali Raj 

वह 26 जून 1999 का दिन था जब इंग्लैंड के मिल्टन केयन्स में भारत की दोनों सलामी बल्लेबाज वनडे क्रिकेट में डेब्यू के लिये उतरी, दोनों ने शतक जमाकर नया रिकॉर्ड बनाया लेकिन इनमें एक खिलाड़ी जहां महिला क्रिकेट की रन मशीन बन गयी वहीं दूसरी बल्लेबाज कुछ दिनों बाद ही नेपथ्य में खो गयी। इनमें से मिताली राज के नाम से सभी क्रिकेट प्रेमी परिचित होंगे लेकिन रेशमा गांधी को शायद ही कोई जानता होगा। 

मिताली तब 16 साल की थी और उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ खेले गये इस मैच में नाबाद 114 रन बनाये। उनके साथ रेशमा गांधी पारी की शुरुआत करने उतरी थी जिन्होंने 24 साल की उम्र में डेब्यू किया था। महाराष्ट्र के अहमदनगर में 16 दिसंबर 1974 को जन्मी रेशमा ने नाबाद 104 रन बनाये, लेकिन उन्होंने पहले शतक पूरा किया था।

यह भी पढ़ें- IPL : इस वजह से 2008 में दिल्ली ने नहीं लगाई विराट कोहली पर बोली, पूर्व सीओओ ने किया खुलासा

इस तरह से वह पुरुष और महिला क्रिकेट दोनों में डेब्यू वनडे में शतक जड़ने वाली पहली भारतीय बनी थी। मिताली ने उनके बाद शतक पूरा किया था। भारतीय पुरुष टीम की तरफ से केवल केएल राहुल ही अपने डेब्यू वनडे मैच में शतक लगा पाये हैं। 

उन्होंने 11 जून 2016 को जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में नाबाद 100 रन बनाकर यह उपलब्धि हासिल की थी। मिताली और रेशमा ने उस मैच में पहले विकेट के लिये 258 रन की अटूट साझेदारी की थी। यह तब महिला क्रिकेट में पहले विकेट के लिये नया रिकार्ड था जो नौ साल तक उनके नाम पर रहा था। भारत ने यह मैच 161 रन से जीता था जो उस समय भारत की रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत थी। 

मिताली इसके बाद भारतीय शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी का मुख्य आधार बन गयी। उन्होंने दस टेस्ट मैच भी खेले जिनमें 214 रन की एक पारी भी शामिल हैं। वह अब तक 209 वनडे मैच खेल चुकी हैं और दुनिया की एकमात्र महिला क्रिकेटर हैं जिन्होंने 200 से अधिक एकदिवसीय मैच खेले हैं। यही नहीं मिताली के नाम पर वनडे में 6888 रन दर्ज हैं जो कि विश्व रिकार्ड है। 

यह भी पढ़ें- विराट कोहली के सपोर्ट में उतरे कपिल देव, कहा वर्ल्ड कप जीतना सब कुछ नहीं

उन्होंने ये रन 50.64 की औसत तथा सात शतक और रिकार्ड 53 अर्धशतकों की मदद से बनाये हैं। मिताली 50 या इससे अधिक अर्धशतक लगाने वाली दुनिया की एकमात्र बल्लेबाज हैं। मिताली राज ने अपने करियर में बीच में लगातार 109 मैच खेले जो कि विश्व रिकार्ड है लेकिन आज से ठीक 21 साल पहले उनके साथ कैंपबेल पार्क में अपने करियर का आगाज करने वाली रेशमा गांधी केवल दो अंतरराष्ट्रीय मैच ही खेल पायी। 

रेशमा गांधी मुख्य रूप से विकेटकीपर बल्लेबाज थी। अपने डेब्यू मैच में वह इसी भूमिका में खेली थी लेकिन तब भारतीय टीम में अंजू जैन के रूप में मंझी हुई विकेटकीपर बल्लेबाज थी। ब्रिटेन के उस दौरे में इंग्लैंड के खिलाफ अगले मैच में अंजू जैन की वापसी हुई और रेशमा को बाहर कर दिया गया। 

मिताली अपने अगले दो मैचों में चार और शून्य रन पर आउट हो गयी। तीसरे मैच में उनकी जगह रेशमा को विशुद्ध बल्लेबाज के रूप में उतारा गया लेकिन वह सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिये आयी। रेशमा ने नाबाद 18 रन बनाये जो उनकी आखिरी अंतरराष्ट्रीय पारी साबित हुई। 

घरेलू क्रिकेट में रेलवे का प्रतिनिधित्व करने वाली रेशमा ने अपने करियर में लिस्ट ए के कुल 13 मैच में खेले जिनमें 38.42 की औसत से 269 रन बनाये जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल हैं। 

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड

X