Saturday, April 13, 2024
Advertisement

पाकिस्तान में नई सरकार बनने से पहले बढ़ी इमरान की मुश्किलें, पीटीआई नेताओं के खिलाफ फिर शुरू हुई कार्रवाई

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के जेल से निकलने का कोई रास्ता नहीं सूझ रहा है। पाकिस्तान चुनावों में बतौर निर्दलीय उम्मीदवार सबसे ज्यादा सीटें जीतने वाली इमरान की पार्टी के नेताओं के खिलाफ फिर से कार्रवाई शुरू हो गई है। इमरान की ओर से पीएम उम्मीदवार घोषित होते ही उमर अयूब की भी गिरफ्तारी का प्रयास शुरू है।

Dharmendra Kumar Mishra Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: February 16, 2024 21:51 IST
प्रतीकात्मक फोटो।- India TV Hindi
Image Source : AP प्रतीकात्मक फोटो।

इस्लामाबाद/लाहौर: पाकिस्तान में खंडित जनादेश की वजह से कोई भी पार्टी अभी तक सरकार बनाने का दावा पेश नहीं कर पाई है। इमरान खान की पार्टी पीटीआई के उम्मीदवार निर्दलीय तौर पर 100 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज की है। मगर इमरान खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही। पाकिस्तान की सेना ने जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी के खिलाफ कार्रवाई का एक नया दौर शुरू किया है ताकि चुनाव में जीतने वाले इसके उम्मीदवारों पर सेना द्वारा समर्थित राजनीतिक दलों का समर्थन करने का दबाव डाला जा सके।

खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और सैन्य प्रतिष्ठान के बीच यह कार्रवाई आठ फरवरी को पाकिस्तान में आम चुनाव में पार्टी की भारी जीत के बाद शुरू हुई है। पार्टी सूत्रों ने कहा कि पुलिस ने पीटीआई समर्थित कई सफल निर्दलीय उम्मीदवारों को गिरफ्तार कर लिया और पूरे पंजाब प्रांत में उनकी संपत्तियों पर छापेमारी की। पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा (केपी) में मुख्यमंत्री पद के लिए पीटीआई द्वारा नामांकित उम्मीदवारों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किए गए हैं। इसके अलावा, संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) ने सरकार के खिलाफ जनता को भड़काने के आरोप में इमरान खान की बहन अलीमा खान को तलब किया है।

पीएम उम्मीदवार घोषित होते ही अयूब की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू

इमरान खान की ओर से पीटीआई के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद उमर अयूब की भी मुश्किलें बढ़ना शुरू हो गई हैं। उन्हें किसी अज्ञात मामले में एक स्थानीय अदालत से गिरफ्तारी से पूर्व जमानत मिल गई। ऐसी अटकलें थीं कि प्रधानमंत्री पद के लिए दावा करने से रोकने के लिए उन्हें किसी अज्ञात मामले में गिरफ्तार किया जा सकता है। इस बीच, इमरान खान की पार्टी ने शुक्रवार को दावा किया कि संसद में उसके द्वारा जीती गईं कम से कम 85 सीट धांधली से छीनी गईं। इसने कहा कि पाकिस्तान के चुनाव के नतीजे देश के इतिहास में "सबसे बड़ी मतदाता धोखाधड़ी" के कारण याद किए जाएंगे।

बुशरा बीबी की जेल में तबीयत बिगड़ी

पीटीआई ने इमरान खान की पत्नी बुशरा बीवी के स्वास्थ्य को लेकर चिंता व्यक्त की है और दावा किया है कि उनकी जान को ''गंभीर खतरा'' है तथा पाकिस्तान में ''फासीवादी शासन'' उनका इलाज कराने से इनकार कर रहा है। पिछले महीने तोशाखाना भ्रष्टाचार मामले में जवाबदेही अदालत द्वारा दंपति को 14 साल जेल की सजा सुनाए जाने के बाद 49 वर्षीय बुशरा बीवी जेल में बंद हैं। वहीं, एक अन्य घटनाक्रम में इमरान खान ने गोपनीय दस्तावेज लीक होने और तोशखाना भ्रष्टाचार मामले में अपनी सजा को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय में चुनौती दी। (भाषा) 

यह भी पढ़ें

म्यूनिख में ब्रिटिश विदेश मंत्री डेविड कैमरन और USA के एंटनी ब्लिंकन से मिले जयशंकर, इन मुद्दों पर हुई द्विपक्षीय वार्ता

पुतिन के एक और दुश्मन की मौत से अन्य विद्रोहियों में भी मची खलबली, जेल में बंद थे राष्ट्रपति के आलोचक एलेक्सी नवलनी

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement