Pakistan Terrorism: अमेरिका में पाकिस्तानी डॉक्टर ने स्वीकार किया आतंकवाद का आरोप, अकेले ही हमलों को देना चाहता था अंजाम, ISIS से है प्यार

Pakistan Terrorism: अभी यह नहीं बताया गया है कि डॉक्टर को सजा किस दिन सुनाई जाएगी। अभियोजकों ने बताया कि मसूद कार्य वीजा पर अमेरिका आया था। उन्होंने आरोप लगाया कि मसूद ने एफबीआई के मुखबिरों को इस्लामिक स्टेट (आईएस) समूह के सदस्य समझकर जनवरी 2020 से कई जानकारियां दीं।

Shilpa Written By: Shilpa
Updated on: August 17, 2022 16:28 IST
Pakistani Doctor Arrested by FBI in US- India TV Hindi News
Image Source : AP Pakistani Doctor Arrested by FBI in US

Highlights

  • आतंकवाद के आरोप में पाकिस्तानी डॉक्टर गिरफ्तार
  • अमेरिका में अकेले ही हमलों को अंजाम देना चाहता था
  • FBI के मुखबिरों को ISIS का समझकर जानकारी दीं

Pakistan Terrorism: अमेरिका में पाकिस्तान के एक डॉक्टर और मायो क्लिनिक के पूर्व कर्मचारी ने मंगलवार को आतंकवाद संबंधी एक आरोप स्वीकार कर लिया है। उसने दो साल से अधिक समय पहले संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) के मुखबिरों को यह बताया था कि वह इस्लामिक स्टेट समूह के प्रति निष्ठा रखता है और अमेरिका में अकेले हमलों को अंजाम देना चाहता है। इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। अदालत के ऑनलाइन उपलब्ध दस्तावेजों के अनुसार, मोहम्मद मसूद ने एक विदेशी आतंकवादी संगठन को साजो सामान संबंधी सहयोग मुहैया कराने के प्रयास का एक आरोप स्वीकार कर लिया है। 

अभी यह नहीं बताया गया है कि डॉक्टर को सजा किस दिन सुनाई जाएगी। अभियोजकों ने बताया कि मसूद कार्य वीजा पर अमेरिका आया था। उन्होंने आरोप लगाया कि मसूद ने एफबीआई के मुखबिरों को इस्लामिक स्टेट (आईएस) समूह के सदस्य समझकर जनवरी 2020 से कई जानकारियां दीं। उसने बताया कि वह इस समूह और इसके नेता के प्रति निष्ठा रखता है। अभियोजकों ने बताया कि मसूद ने आईएस के लिए लड़ने के वास्ते सीरिया जाने और अमेरिका में अकेले हमलों को अंजाम देने का इरादा जताया था।

क्लिनिक में काम नहीं करता है डॉक्टर

मायो क्लिनिक ने पहले पुष्टि की थी कि मसूद मिनेसोटा में रोचेस्टर के एक चिकित्सा केंद्र में उसका पूर्व कर्मचारी था लेकिन वह गिरफ्तारी के वक्त क्लिनिक में काम नहीं करता था। अमेरिकी न्याय विभाग की वेबसाइट के अनुसार, मसूद ने फरवरी 2020 में इलिनोइस के शिकागो से जॉर्डन के अम्मान के लिए विमान के टिकट खरीदे थे। और यहां से उसकी सीरिया जाने की योजना था। मसूद ने इसी साल मार्च में यात्रा की योजना में बदलाव कर दिया क्योंकि जॉर्डन ने कोरोना वायरस महामारी के कारण अपनी सीमाओं को बाहर से आने वाले यात्रियों के लिए बंद कर दिया था। 

जहाज से पहुंचना चाहता था ISIS के पास

मसूद ने तब एक व्यक्ति से मिलने के लिए मिनियापोलिस से लॉस एंजिल्स के लिए उड़ान भरने की योजना बनाई, जिसके बारे में उसे लगता था कि वह उसे आईएसआईएस के क्षेत्र में पहुंचाने के लिए मालवाहक जहाज के माध्यम से यात्रा कराने में सहायता करेगा। 19 मार्च, 2020 में मसूद कैलिफोर्निया के लॉस एंजिल्स की फ्लाइट पकड़ने के लिए रोचेस्टर से मिनियापोलिस-सेंट पॉल इंटरनेशनल एयरपोर्ट (एमएसपी) गया। एमएसपी पहुंचने पर मसूद ने उड़ान के लिए चेक इन किया और तभी उसे एफबीआई की जॉइंट टेररिस्म टास्क फोर्स ने गिरफ्तार कर लिया।

 
एफबीआई की जॉइंट टेररिस्म टास्क फोर्स ने जांच करने के बाद मोहम्मद मसूद को पकड़ा है। इस मामले में सहायक अमेरिकी अटॉर्नी एंड्रयू आर. विंटर और दमित्री स्लाविन और राष्ट्रीय सुरक्षा प्रभाग के स्टेफनी स्वीटन द्वारा मुकदमा चलाजा जा रहा है।

Latest World News

navratri-2022